कोटा में प्रतीकात्मक हुआ रावण दहन

कोरोना संक्रमण के चलते 12 फीट का हुआ रावण के पुतले का दहन

By: Ranjeet singh solanki

Published: 25 Oct 2020, 09:27 PM IST

कोट। ऐतिहासिक 127 वें दशहरे मेले में कोरोना गाइड लाइन का निर्वहन करते हुए रविवार को रावण दहन पूर्व राजपरिवार के सदस्य इज्यराजसिंह द्वारा विधिवत रूप से मत्रोचार के साथ परम्परागत रूप से तीर चलाकर किया गया। पिछले साल 101 फीट के रावण के पुतले का दहन हुआ था, इस बार कोरोना संक्रमण के चलते 12 फीट के पुतले का दहन किया गया। इस अवसर पर कोटा उत्तर के प्रशासक एवं आयुक्त वासुदेव मालावत, कोटा दक्षिण की प्रशासक एवं आयुक्त कीर्ति राठौड़ सहित निगम के अधिकारी उपस्थित रहे। ऐतिहासिक दशहरा मेले में प्रतिवर्ष रावण दहन लाखों लोगों की उपस्थिति में किया जाता रहा है। जिसमें देश-विदेश के पर्यटक एवं स्थानीय नागरीक बडी संख्या में भाग लेते रहे है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा गाइड लाइन का निर्वहन करते हुए नगर निगम द्वारा इस वर्ष दशहरा मेले की सभी परम्पराओं को सादगी के साथ पूरा किया गया। दशहरे मेले में नगर निगम के अधिकारियों एवं पूर्व राज परिवार के सदस्य द्वारा ज्वारे एवं मां सीता के पाना की पूजा कर विधिवत् रूप से रावण के पुतले के समक्ष रखे कुम्भ में तीर चलाकर रावण दहन की परम्परा को पूर्ण किया। दशहरे मेले में परम्परागत रूप से आने वाली लक्ष्मी नारायण जी की सवारी पूरे साज-सज्जा के साथ खुली गाडी में दशहरा मैदान लाई गई जहा निगम के अधिकारियों ने पूजा-अर्चना कर देश-प्रदेश की खुशहाली की कामना की।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned