कोरोना के चलते कोटा के 127 वें दशहरा मेले का नहीं हो पाया उद्घाटन समारोह

निगम प्रशासकों ने की आशापुरा माता की परम्परागत पूजा-अर्चना

By: Ranjeet singh solanki

Updated: 17 Oct 2020, 07:37 PM IST

कोटा। कोविड-19 की विषम परिस्थितियों के कारण 127वें राष्ट्रीय दशहरा मेला आयोजन के निरस्त होने के बावजूद मेले के अवसर पर प्रतिवर्ष की जाने वाली आशापुरा माता की पूजा की धार्मिक परम्परा का शनिवार को नवरात्रा स्थापना के मौके पर निर्वहन किया गया। दशहरा मेले के उदघाटन से पहले नगर निगम प्रशासन की ओर से आशापुरा माता की विधिवत पूजा अर्चना की जाती है। इसके बाद शाम को हर साल मेले का भव्य शुभारंभ समारोह होता था। जिसमें शहर के जनप्रतिनिधि और तमाम प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी रहती थी। इस मौके पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम होते थे, लेकिन इस बार कोरोना के कारण सारे कार्यक्रम निरस्त करने पड़े हैं। रावण दहन का कार्यक्रम में औपचारिक तौर पर ही होगा। नगर निगम कोटा उत्तर के प्रशासक एवं आयुक्त वासुदेव मालावत व कोटा दक्षिण की प्रशासक एवं आयुक्त कीर्ति राठौड़ ने किशोरपुरा स्थित आशापुरा माता के मन्दिर में विधि-विधान के साथ माता की पूजा अर्चना की। इस मौके पर कोरोना गाईड लाईन की पूरी तरह पालना की गई। निगम के अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारी अशोक जैन, निजी सहायक कमल मालव सहित पूजा व्यवस्था से जुडे निगम के चुनिन्दा कर्मचारी ही मन्दिर प्रांगण में सोशल डिस्टेंस के साथ उपस्थित थे। माता को चुन्नी चढाई गई, नारियल-प्रसाद, पुष्पहार भेंट किए गए व माता का ध्वज उन्हें समर्पित किया गया।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned