जेके लोन अस्पताल में दो और बच्चों की मौत के बाद जमकर बवाल, परिजनों ने शव रखकर दिया धरना

परिजनो ने अस्पताल परिसर में हंगामा, शव रख धरने पर बैठे

 

By: Rajesh Tripathi

Updated: 06 Jan 2020, 06:27 PM IST

Kota, Kota, Rajasthan, India

कोटा। जेके लोन अस्पताल में रविवार व सोमवार को फिर दो नवजात की मौत हो गई। सोमवार को बच्चों की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में हंगामा शुरू कर दिया। परिजन अस्पताल परिसर में ही धरने पर बैठ गए। परिजनों ने बच्ची का शव भी अपने साथ रखा। परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग है। सूचना पर नयापुरा पुलिस भी मौकें पर पहुंची।

कोहरे का फायदा उठाकर कार सवार परिवार को धमकाकर लुटे पर्स व मोबाइल


जानकारी के अनुसार भीलवाड़ा जिले के मांडलगढ़ निवासी रफीका बानो का पीहर कोटा जिले के इटावा में है। वह दो माह से अपने पीहर में ही थी और गर्भवती थी। उसे इटावा रैफर करने के बाद कोटा भेजा गया। कोटा में शुक्रवार को सिजेरियन डिलीवरी से उसने दोपहर 1 बजे बच्ची को जन्म दिया। बच्ची को कुछ देर के लिए जन्म के बाद चिकित्सकों ने वार्मर में रखा। इसके बाद बच्ची की हालत सही बताकर वापस मां रफीका को सौंप दिया। परिजनों से समझाइस की।
परिजनों ने आरोप लगाया है, कि बच्चे की तबीयत बिगडऩे पर दो-तीन बार शिशु रोग विभाग के चिकित्सकों के पास गए, लेकिन चिकित्सकों ने उसे सही बताते हुए वापस लौटा दिया। जबकि बच्ची लगातार रो रही थी। उसे ऑक्सीजन भी नहीं लगाया, सिर्फ नाक में दवा डालने की बात कहकर उसे वापस भेज दिया। सोमवार सुबह बच्ची ने दूध पीया, जिसके बाद उसकी मौत हो गई। डॉक्टर मरीज के इलाज के बारे में कुछ नही बताते।सुबह के वक्त परिजनों को अस्पताल से बाहर कर दिया जाता है।

कोटा के बाद अब बारां में नवजात की मौत, परिजनों ने चिकित्सकों
पर लगाए लापरवाही के आरोप

इधर अस्पताल प्रशासन का कहना है कि दूध पिलाने के बाद बच्ची को डकार नही दिलाने से बच्ची की सांस अटकी ओर उसकी मौत हो गई। लापरवाही जैसी बात नहीं है। इससे पहले रविवार देर रात भी एक नवजात की मौत हुई है। जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत होने का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है। जेके लोन अस्पताल में 37 दिन में बच्चों की मौत का आंकड़ा 112 तक पहुच गया है।

BJP Congress
Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned