भाजपा-कांग्रेस पार्षदों ने महापौर के खिलाफ खोला मोर्चा, धरने पर बैठे...

डीजल घोटाले की जांच से उपायुक्त श्वेता फगेडिया का नाम हटाने का विरोध

By: Dhirendra

Published: 19 Jan 2019, 11:28 AM IST

Kota, Kota, Rajasthan, India

कोटा. डीजल घोटाले की जांच से उपायुक्त श्वेता फगेडिया का नाम हटाने के विरोध में भाजपा और कांग्रेस के पार्षद लामबद्ध हो गए हैं। गैराज समिति के अध्यक्ष गोपाल राम मण्डा, विवेक राजवंशी, महेश गौतम लल्ली, दिलीप पाठक, ओम गुंजल, गिरिराज महावर दोपहर तीन बजे महापौर के चैम्बर के बाहर धरने पर बैठ गए। मण्डा ने आरोप लगाया कि महापौर के इशारे पर फगेडिया का नाम जांच कमेटी से हटाया गया है।

Read more : डीजल घोटाला दबाने में जुटे अधिकारी, 12 घंटे में जांच से डीसी का नाम हटाया...

उन्होंने सवाल उठाया कि गैराज उपायुक्त के खिलाफ अधीक्षण अभियंता स्तर का अधिकारी कैसे जांच करेगा। घोटाले से संबंधित जो कागजात उपायुक्त मुख्यालय को दिए थे वे भी महापौर ने उनसे वापस लेकर घोटाले में शामिल अधिकारियों को ही सौंप दिए। उपायुक्त मुख्यालय से घोटाले के कागजात वापस लेने का मतलब है महापौर जांच नहीं होना देने चाहते। सोमवार से महापौर के चैम्बर के बाहर लगातार धरना दिया जाएगा।

Read more : अबला की आबरू से खेला कानून का रखवाला, अश्लील वीडियो बना सालभर नोचता रहा...

इधर, समर्थन में उतरे पार्षद
महापौर समर्थक पार्षद रमेश आहूजा, नरेन्द्र हाड़ा, युसूफ कड़क ने महापौर को पत्र लिखकर निगम में जब से भाजपा बोर्ड का गठन हुआ है तब से गैराज अनुभाग में संसाधनों के उपयोग की जांच की मांग की है। इसके अलावा टिपर के उपयोग, संविदा पर कार्यरत चालकों, हैल्परों की आपूर्ति या अन्य सभी प्रकार की गतिविधियों की भी जांच कराने की मांग की है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned