एक अफसर की कलम चली तो बचेंगे दो करोड़

कोटा दक्षिण नगर निगम : शर्त बदली तो गोशाला में भूसा आपूर्ति की दरें हो गई कम

By: Ranjeet singh solanki

Published: 23 Sep 2020, 05:27 PM IST

कोटा। नगर निगम की बंधा धर्मपुरा गोशाला में भूसा आपूर्ति का लम्बी जद्दोजहद के बाद नए टेण्डर हो गए हैं। कम दर पर भूसा आपूर्ति का टेण्डर होने से निगम के करीब दो करोड़ रुपए की बचत होगी। दो साल पहले भूसा आपूर्ति का टेण्डर ऊंची दरों पर दिया गया था। इस कारण निगम को भारी राजस्व की हानि हो रही थी। निगम ने ढाई साल पहले गोशाला में भूसा आपूर्ति का टेण्डर छह रुपए प्रति किलो (600 रुपए प्रति क्विंटल ) की दर से एक ठेका फर्म को दिया था। भूसा आपूर्ति की ऊंचे दरें होने के बावजूद भी नए टेण्डर नहीं करवाकर छह माह के लिए ठेका रिवाइज कर दिया था। छह माह में ही ठेकेदार ने दो करोड़ का भूसा आपूॢत कर दिया है। जबकि दो साल का टेण्डर ही चार करोड़ का दिया था। भूसा आपूर्ति का टेण्डर नहीं करवाने तथा ऊंची दरों पर भूसा आपूर्ति का मामला पिछले दिनों पत्रिका ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इसके बाद कोटा दक्षिण आयुक्त कीर्ति राठौड़ ने मामले में संज्ञान लेकर तत्काल टेण्डर प्रक्रिया को शुरू करवा और शर्तों में बदलाव किया गया है। इससे जो भूसा दो साल पहले 6 रुपए किलो की दर से आपूर्ति किया गया था अब नए टेण्डर में 4.86 रुपए किलो की दर से किया जाएगा। यह टेण्डर दो साल का है। निगम ने भूसा आपूर्ति का कार्यादेश जारी कर दिया है। आयुक्त का कहना है कि भूसा आपूर्ति गुणवत्ता युक्त आपूर्ति करना होगा। सात दिन का अतिरिक्त स्टॉक गोशाला के गोदाम में रखना होगा। बंधा धर्मपुरा गोशाला में वर्तमान में करीब तीन हजार गोवंश है। पिछले दिनों आयुक्त राठौड़ ने गोशाला का दौराकर व्यवस्थाएं सुधारने के निर्देश दिए थे। नए टेण्डर नहीं होने से गोशाला में भूसा की भारी किल्लत चल रही है। हरे चारे के टेण्डर की भी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned