कचरे से भरे टिपर में बैठे कमिश्नर को सफाईकर्मी ने दिया ऐसा जवाब कि सुनकर चौंक गए आयुक्त

कचरे से भरे टिपर में बैठे कमिश्नर को सफाईकर्मी ने दिया ऐसा जवाब कि सुनकर चौंक गए आयुक्त
कचरे से भरे टिपर में बैठे कमिश्नर को सफाईकर्मी ने दिया ऐसा जवाब कि सुनकर चौंक गए आयुक्त

Zuber Khan | Updated: 12 Oct 2019, 06:08:44 PM (IST) Kota, Kota, Rajasthan, India

Kota Nagar Nigam, Swachh Bharat Abhiyan : पांच साल में पहली बार कोटा नगर निगम के कमिश्नर ने कचरे से भरे टिपर में बैठ शहर की सफाई व्यवस्था देेेेेखी तो चौंक गए।

कोटा. शहर में पिछले तीन साल से टिपर ( Tipper ) घर-घर जाकर कचरा संग्रहण ( garbage collection ) कर रहे हैं, लोगों की अमूमन शिकायत होती है ( Kota Municipal Corporation ) टिपर नहीं आते, यदि आते हैं तो कॉलोनी में बिना रुके ही दौड़ा ले जाते हैं। टिपर देरी से आता है... लोगों की समस्या से रूबरू होने तथा सफाई व्यवस्था (Cleaning system in kota ) की जांच करने शुक्रवार अलसुबह आयुक्त वासुदेव मालावत ( Commissioner Vasudev Malawat ) खुद एक टिपर में बैठकर सफाई व्यवस्था देखने निकल गए। सफाई कर्मचारी भी उन्हें पहचान नहीं पाया। आयुक्त ने सेक्टर कार्यालय पर मौजूद एक सफाई कर्मचारी से पूछा भैय्या सफाई के लिए वार्ड में नहीं गए क्या... तो सफाई कर्मचारी बोला काहे की जल्दी है, अभी तो आए हैं चले जाएंगे, हो जाएगी सफाई... आपको क्या चिंता है। आयुक्त चुपचाप सफाई कर्मचारी की बात सुनते रहे। (Surprise inspection )

Read More: बड़ी खबर: कोटा कलक्टर बोले-मैं हाथ जोड़ूं या पैर पकड़ूं , एक माह में जनता को दिलाऊंगा मकानों का पैसा...

आयुक्त मालावत ने शुक्रवार सुबह एक टिपर में बैठकर शहर में चल रही घर-घर कचरा संग्रहण की व्यवस्था का औचक निरीक्षण किया। लोगों से टिपर की जानकारी भी ली। इससे वार्डों में टिपर नहीं आने की पोल खुल गई। आयुक्त मालावत सबह 6 बजे वार्ड में पहुंचे। महावीर नगर सेक्टर कार्यालय पर पहुंचे तो कार्मिक भी नहीं पहचान पाए। टिपर चालक के साथ बैठकर मालावत ने महावीर नगर, रंगबाड़ी, घटोत्कच चौराहे के पास कचरा एकत्रित करने एवं सफाई की व्यवस्था देखी। रंगबाड़ी में आम नागरिकों से सफ ाई व्यवस्था का फीडबैक लिया। इस दौरान वार्डों में कई जगह सफाई कर्मचारी नजर नहीं आए।

Read More: वार्डन पर गंभीर आरोप: एसडीएम से बोली बेट‍ियां- खाने को देती जली रोटियां और धुलवाती गंदे कपड़े, मना करने पर करती मारपीट

किसी को भी भनक नहीं लगने दी
आयुक्त मालावत ने अपने औचक दौरे को पूरी तरह गोपनीय रखा। उपायुक्तों और मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी को भी भनक नहीं लगने दी। वे अलसुबह आम नागरिक बनकर टिपर में बैठ गए। सेक्टर के कर्मचारी भी उन्हें नही पहचान सके और उन्होंने सेक्टर कार्यालय में खड़े होकर प्रत्येक कर्मचारी के क्रिया कलाप को प्रत्यक्ष देखा। इस दौरान उन्होंने कचरा संग्रहण कर रहे एक टिपर में चालक की बगल वाली सीट पर बैठ कर महावीर नगर, रंगबाड़ी व घटोत्कच चौराहा इलाके का भ्रमण किया व कचरा संग्रहण की हर गति-विधि को देखा। उन्होंने क्षेत्र में चल रहे सफ ाई कार्य का निरीक्षण भी किया।

Read More: एसडीएम कार्यालय में वार्डन ने छात्राओं को धमकाया, खौफ से बालिका बेहोश, अस्पताल में हुए चौंकाने वाले खुलासे

लापरवाही बरतने वालों को थमाए नोटिस
आयुक्त मालावत ने महावीर नगर सेक्टर क्षेत्र में निरीक्षण के दौरान मिली खामियों के संबंध में मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक प्रकाश महाराजा, स्वास्थ्य निरीक्षक शिवशंकर व एक सेल कर्मी पूरण को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक व स्वास्थ्य निरीक्षक को वार्डों में सफ ाई व्यवस्था संतोषजनक नहीं पाए जाने, घर-घर कचरा संग्रहण करने वाले टिपर के कार्मिक को रूट चार्ट की समुचित जानकारी नहीं देने व सेल कर्मी को कचरा संग्रहण करने वाले टिपर के रूट चार्ट की जानकारी नहीं देने पर नोटिस दिए गए हैं।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned