हमसफ़र के गुम जाने पर तड़प उठा दिल सीमा के प्रहरी का,जब सामने देखा तो जैसे आंसुओ का सावन उमड़ पड़ा

Suraksha Rajora

Updated: 19 Jul 2019, 07:08:41 PM (IST)

Kota, Kota, Rajasthan, India

 

कोटा. Human Story जब कोई अपना जुदा होता है तो जुदाई का दर्द वही जानता है, लेकिन दुनिया की राह में फिर से मिल जाए तो इससे बड़ी खुशी क्या हो सकती है। जम्मू कश्मीर में तैनात बीएसएफ जवान जय व उसके परिजनों को कुछ इसी तरह के हालातों से गुजरना पड़ा। शुक्रवार को जय और संतोष एक-दूसरे से मिले तो उनकी आंखों से खुशी छलक पड़ी। जय और परिजन संतोष को अपने साथ ले गए।


सीमा पर तैनात जवान जयलाल की पत्नी संतोष गत 4 जुलाई को देवली (टोंक) से घर से निकली थी। उसके परिजनों ने पुलिस को सूचित किया था। संतोष किसी तरह से कोटा पहुंच गई। इस पर नयापुरा पुलिस ने अपना घर को सूचित किया। संस्था की टीम ने संतोष को अपना घर में शिफ्ट किया।

 

मनोज जैन आदिनाथ ने बताया कि महिला मानसिक रूप से अस्वस्थ थी। उसका इलाज किया गया। इसी दौरान जयलाल को बेटों ने मां के गुम होने की सूचना दी तो वह घर आए और संतोष को तलाशना शुरू किया। उनका किसी तरह से अपना घर से सम्पर्क हुआ तो उनकी उम्मीद पूरी हो गई। जयलाल व उनके दो बेटे गुरुवार को संतोष को अपने साथ ले गए।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned