कोटा उत्तर निगम ने 561 करोड़ की आय का लक्ष्य रखा

527 करोड़ व्यय अनुमान का बजट प्रस्ताव पारित

By: shailendra tiwari

Published: 12 Feb 2021, 12:59 AM IST

कोटा. कोटा उत्तर नगर निगम बोर्ड की बजट बैठक गुरुवार को महापौर मंजू मेहरा की अध्यक्षता में नगर निगम के राजीव गांधी प्रशासनिक भवन के सभाकक्ष में हुई। इसमें 2021-22 के बजट प्रस्तावों का अनुमोदन किया गया।

संशोधित बजट वर्ष 2020-21 का भी अनुमोदन किया गया। आय प्रस्ताव 561 करोड़ 92 लाख रुपए और व्यय प्रस्ताव 527 करोड़ 29 लाख रुपए का पारित किया गया। महापौर ने बजट प्रस्तुत किया तो पार्षदों मेज थपथापाकर तत्काल बजट पारित किया। महापौर ने कहा, जनता की भावना और आकांक्षाओं के अनुसार निगम कार्य करेगी। इसमें सभी का सहयोग मिलेगा। सभी वार्ड, चौराहे और पार्कों के विकास पर जोर दिया जाएगा।

आयुक्त वासुदेव मालवत ने कहा, जब से नए सदस्य चुनकर आए हैं तब से सफाई व्यवस्था में सुधार हो रहा है। स्वच्छता सर्वें कोटा को पूरे देश में दर्शाता है। सभी प्रयास करेंगे तो कोटा उत्तर नगर निगम देश में अच्छा नाम हो, ऐसा प्रयास करेंगे। यह सर्वे 31 मार्च तक होगा।

एक सदस्य ने सुझाव दिया कि गीला और सूखा कचरा अलग-अलग करके आय की संभावना तलाशी जानी चाहिए। एक महिला सदस्य ने कहा, बजट क्या है आय कैसे आती है, यदि इसको लेकर निगम में कार्यशाला आयोजित की जाती तो अच्छा होता। कुछ सदस्यों ने कहा, पिछले आय लक्ष्य पूरे नहीं हुए, ऐसे में इस बार आय का लक्ष्य बढ़ाने से बजट काल्पनिक लग रहा है।

इस पर आयुक्त मालावत ने कहा, गत वर्ष आय-व्यय के अनुमान थे वे दोनों निगमों की संयुक्त आय के आधार पर थे। इसके बाद कोरोना महामारी के कारण आय में कमी रही। सामुदायिक केन्द्र और विज्ञापन मद से आय नहीं हुई। बैठक में 20 एमएलडी सीवरेज प्लांट धाकडख़ेड़ी के संचालन के लिए 2 करोड़ 10 लाख रुपए की व्यय राशि का अनुमोदन किया गया। यह प्लांट 12 साल पहले आरयूआईडीपी ने बनाकर नगर निगम को सुपुर्द किया था। इस प्लांट पर हर माह औसत 2.56 लाख रुपए खर्च होता है। मॉडल राजस्थान भवन विनियम 2020 को लागू करने का प्रस्ताव भी पारित किया गया।

Show More
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned