अवैध खननकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई करेगी पुलिस

कोटा शहर के आसपास वन भूमि व नगर विकास न्यास की खाली पड़ी जमीन पर हो रहे अवैध खनन के खिलाफ रविवार को हाड़ौती विकास मोर्चा के सम्भागीय अध्यक्ष राजेन्द्र सांखला डीआईजी रविदत्त गौड़ से मिले और अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

By: Haboo Lal Sharma

Published: 14 Jun 2020, 09:13 PM IST

कोटा. शहर के आसपास वन भूमि व नगर विकास न्यास की खाली पड़ी जमीन पर हो रहे अवैध खनन के खिलाफ रविवार को हाड़ौती विकास मोर्चा के सम्भागीय अध्यक्ष राजेन्द्र सांखला डीआईजी रविदत्त गौड़ से मिले और अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। उन्होंने बताया कि शहर में बड़े स्तर पर अवैध खनन वन विभाग व पुलिस के संरक्षण के बिना नहीं हो सकता।

Read More: अवैध खनन रोकने में नाकाम रहे अधिकारी ...देखिए तस्वीरें


सांखला ने डीआईजी को अवैध खनन की जानकारी फोन पर दी। इस पर डीआईजी ने सांखला व एएसपी प्रवीण जैन को बुलाकर वार्ता की। सांखला ने बताया कि अवैध खनन पुलिसकर्मियों की मिलीभगत से फल फूल रहा है। खननकर्ता वन विभाग व पुलिस को बंधी देने की बात कह रहे हैं। इस पर उन्होंने एएसपी जैन को इस मामले को स्वयं देखने व अवैध खननकर्ताअओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने व ट्रैक्टर ट्रालियां जब्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने एएसपी से कहा कि अवैध खनन में अगर पुलिस की मिलीभगत है तो इसकी भी जांच करें, चाहे उसमें सीआई ही शामिल क्यों न हो। उन्होंने आश्वासन दिया है कि इस मामले में अगर कोई पुलिसकर्मी की मिलीभगत सामने आई तो कठोर कार्रवाई की जाएगी। सांखला ने अवैध खनन की शिकायत स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल से कर जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की।

दो दिन बाद फिर अवैध खनन शुरू, आंखे बंद किए बैठे अधिकारी

गौरतलब है कि राजस्थान पत्रिका ने 10 जून को 'अब तक नहीं रोका अब कौन रोकेगा' शीर्षक से समाचार प्रमुखता से प्रकाशित किया गया। इसके बाद दो दिन तक अवैध खनन पूरी तरह बंद रहा। इसके बाद शनिवार को इन सभी स्थानों पर अवैध खनन दुबारा शुरू हो गया। जबकि वन विभाग के रेंंजर संजय नागर का कहना है कि अवैध खनन नहीं हो रहा । अवैध खनन स्थलों पर गश्त बढ़ा दी गई और अधिकारियों को भी पांबद कर दिया, बावजूद इसके अवैध खनन चल रहा है।

Haboo Lal Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned