scriptLilen and blanket will meet again after two years in trains | INDIAN RAILWAYS: ट्रेनों में दो साल बाद फिर मिलेंगे लिलेन और कंबल | Patrika News

INDIAN RAILWAYS: ट्रेनों में दो साल बाद फिर मिलेंगे लिलेन और कंबल

कोरोना संक्रमण नियंत्रित होने के बाद अब रेलवे ने तत्काल प्रभाव से लिनेन, कंबल तथा अंदर के पर्दों पर लगाई गई पाबंदी को तत्काल प्रभाव से वापस लेने का निर्णय लिया है।

कोटा

Updated: March 11, 2022 01:38:16 am

कोटा. कोविड-19 के कारण महामारी और कोविड प्रोटोकॉल को देखते हुए ट्रेनों से यात्रियों की आवाजाही के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोटोकॉल (एसओपी) जारी किया गया था, जिसमें लिनेन, कंबलों तथा ट्रेनों के भीतर के पर्दों पर पाबंदी लगाई गई थी। अब रेलवे ने तत्काल प्रभाव से लिनेन, कंबल तथा अंदर के पर्दों पर लगाई गई पाबंदी को तत्काल प्रभाव से वापस लेने का निर्णय लिया है और ये चीजें उसी तरह उपलब्ध कराई जाएंगी। जिस तरह कोविड पूर्व अवधि के दौरान उपलब्ध कराई जाती थीं। ट्रेन में मिलने वाले कंबलों की धुलाई हर ट्रिप पर नहीं होती है, इसलिए यात्रियों को कंबल देना बंद किया गया। मार्च 2020 में राजस्थान पत्रिका ने समाचार प्रकाशित करके ट्रेनों में कंबलों से संक्रमण के खतरे का मुद्दा उठाया था। इसके बाद लिनेन, कंबलों तथा ट्रेनों के भीतर के पर्दों पर पाबंदी लगाई गई। इसके बाद 22 मार्च 2020 से ट्रेनों का संचालन बंद करना पड़ा। कोटा जंक्शन से गुजरने वाली करीब 90 से अधिक यात्री ट्रेनों का संचालन बंद हो गया। करीब 2 साल बाद अब ट्रेनों में यह लिनेन, कंबल देने की सुविधा शुरू की जा रही है। रेलवे बोर्ड की ओर से आदेश जारी होने के बाद इसकी तैयारी शुरू कर दी है। ट्रेनों के वातानुकूलित कोचों में अब फिर से पर्दे लगाए जाएंगे।
कोविड-19 के कारण महामारी तथा कोविड प्रोटोकॉल को देखते हुए ट्रेनों से यात्रियों की आवाजाही के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोटोकॉल (एसओपी) जारी किया गया था, जिसमें लिनेन, कंबलों तथा ट्रेनों के भीतर के पर्दों पर पाबंदी लगाई गई थी। कोरोना संक्रमण नियंत्रित होने के बाद अब रेलवे ने तत्काल प्रभाव से लिनेन, कंबल तथा अंदर के पर्दों पर लगाई गई पाबंदी को तत्काल प्रभाव से वापस लेने का निर्णय लिया है।
indian-railways-

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

दिल्ली हाई कोर्ट से AAP सरकार को झटका, डोर स्टेप राशन डिलीवरी योजना पर लगाई रोकसुप्रीम कोर्ट का फैसला: रोड रेज केस में Navjot Singh Sidhu को एक साल जेल की सजा, जानें कांग्रेस नेता ने क्या दी प्रतिक्रियाGST पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, जीएसटी काउंसिल की सिफारिश मानने के लिए बाध्य नहीं सरकारेंपंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ BJP में शामिल, दिल्ली में जेपी नड्डा ने दिलाई पार्टी की सदस्यताअलगाववादी नेता यासीन मलिक आतंकवाद से जुड़े मामले में दोषी करार, 25 मई को होगी अगली सुनवाईज्ञानवापी मस्जिद-श्रृंगार गौरी विवाद : वाराणसी कोर्ट की कार्रवाई पर सुप्रीम कोर्ट की रोक, शुक्रवार को होगी सुनवाईAssam Flood Situation: बाढ़ का जायजा लेने पहुंचे BJP विधायक को जवान ने पीठ पर लादकर नाव तक पहुंचायाउदयपुर नव संकल्प पर अमल: अब कांग्रेस भी बनेगी 'प्रोफेशनल', देशभर में 6500 पूर्णकालिक कार्यकर्ता नियुक्त करने की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.