चम्बल में मचा हाहाकार, हिल गया हाड़ौती

नाव डूबने के बाद अभी करीब 7 जने लापता हैं, जबकि अन्य डूबने वालों के शव निकाले जा चुके हैं। इस खबर से पूरा हाड़ौती हिल गया है।

By: Jaggo Singh Dhaker

Updated: 16 Sep 2020, 03:12 PM IST

कोटा. चम्बल नदी में नाव डूबने हुई मौतों के बाद कोटा जिले के गोठड़ा गांव में कोहराम मचा हुआ है। यहां नाव डूबने से करीब 14 लोगों की मौत होने की आंशका है। करीब 11 शव पानी से निकाले जा चुके हैं। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन दल और नागरिक सुरक्षा स्वयंसेवक नदी में डूबे लोगों को खोजने में जुटे हैं।

अभी तक तलाब गांव की 8 साल की राधिका तेली, छतपुरा की 28 वर्षीय लोटंती, पापड़ा की गोलमा, अलका, 13 वर्षीय ज्योति, 30 वर्षीय कैलाश अभी तक लापता हैं। इसके अलावा तलाब गांव के दिनेश राठौर, मधुसूदन, सियाराम, प्रेमबाई हेमराज, मंशाराम और उमावाई मिल गई है। चम्बल हादसे की इस दर्दनाक खबर से पूरा हाड़ौती हिल गया है। हादसे का शिकार हुए लोगों के रिश्तेदार मौके पर पहुंचे गए हैं और वहां चीख पुकार मची हुई है। जिला कलक्टर उज्जवल राठौड़ भी मौके पर पहुंच गए हैं। उन्होंने मृतक के परिजनों को एक-एक लाख रुपए की तत्काल सहायता देने के निर्देश दिए हैं।
घटनाक्रम के अनुसार बुधवार सुबह कोटा जिले के खातौली क्षेत्र के गोठड़ा गांव में एक नाव चम्बल नदी में डूब गई। इस नाव में करीब 35 लोग सवार थे। इसमें कई लोगों की डूबने से मौत हो गई। दोपहर दो बजे तक 11 लोगों की लाशें निकाली जा चुकी थी। मौके पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों ने करीब 14 लोगों को लापता बताया है। उन सभी की डूबने की आशंका जताई है। इनकी संख्या ज्यादा भी हो सकती है।

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned