scriptMedicinal wealth disappearing from the forests of Shahabad | क्या आप जानते हैं... बारां जिले के इस जंगल में मिलती है चमत्कारी औषधियां | Patrika News

क्या आप जानते हैं... बारां जिले के इस जंगल में मिलती है चमत्कारी औषधियां

कई तरह की विविधता से भरा हुआ है शाहाबाद का जंगल

कोटा

Updated: January 14, 2022 05:40:52 pm

हुकम दत्त भार्गव
शुभघरा. क्षेत्र के जंगलों में कस्बे, गांव के आसपास औषधीय बेल जलजमनी जो घर में खेतों के आसपास स्वत: ही उगने वाली तथा कईअन्य वनस्पतियां जिनके बारे में हमें नहीं पता।यहां के जंगलों में बहुतायत से पायी जाती है।जलजमनी को अकसर जानकारी के अभाव में हम कचरा समझकर उखाड़ देते हैं, इसका औषधीय महत्व है।इसका उपयोग वैसे तो यौन रोगों में रामबाण इलाज होता है। इसके सेवन से कई रोगों से मुक्ति मिलती है।यह बेल पानी को जमा देती है। आयुर्वेद में इसे इसलिए जलजमनी कहा जाता है। यह बेल क्षेत्र के आसपास के गांव, कस्बों में देखी जा सकती है।
इसका सेवन शक्तिवर्धक
जलजमनी शक्तिवर्धक होने के साथ-साथ यौन समस्याओं का भी इलाज है।शुगर के मरीज यदि जलजमनी की चार पत्तियों को रोज सुबह-शाम नियमित खाएं तो उनका मधुमेह नियंत्रित हो जाता है। साथ ही जलजमनी का काढ़ा पीने से दुर्बलता का नाश होता है।कईवैज्ञानिक शोध में यह साबित हो चुका है। जोड़ों के दर्द में जलजमनी की पत्तियां पीसकर लगाने से आराम मिलता हैं। जलजमनी के उपयोग के बारे में सही मार्गदर्शन नहीं मिलने की वजह से यह गुणकारी बेल नष्ट होती जा रही है। कस्बे के प्रबुद्ध लोगों ने इस बेल के संरक्षण की लिए कार्ययोजना तैयार करने की मांग की है। जंगलों में कई तरह की जड़ी-बूटियों की भरमार है। अगर समय रहते इनका संरक्षण नहीं किया गया तो ये लुप्त हो जाएंगी। उल्लेखनीय हैं कि शाहाबाद के जंगलों में मिलने वाली कई दुर्लभ जड़ी-बूटियां ऐसी हैं, जो प्रदेश के किसी भी हिस्से में नहीं मिलती।
क्या आप जानते हैं... बारां जिले के इस जंगल में मिलती है चमत्कारी औषधियां
क्या आप जानते हैं... बारां जिले के इस जंगल में मिलती है चमत्कारी औषधियां

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.