किशोरसागर तालाब में अब प्रवासी पक्षियों का डेरा

तालाब के किनारे पेड़ों, छोटे टापू, महल की दीवारों पर हजारों पक्षियों का आश्रय

कनवास. कोटा से करीब 50 किलोमीटर दूर दरा अभयारण्य में बसा किशोरसागर तालाब में अब प्रवासी पक्षियों का डेरा डलने लगा है। वर्तमान में तालाब के किनारे पेड़ों, छोटे टापू, महल की दीवारों पर हजारों पक्षियों ने आश्रय ले रखा है। 


तालाब में अठखेलिया करते रंग बिरंगे पक्षियों से वातावरण आनन्दायी बना रहता है। ग्रामीणों का कहना था कि पहले तालाब की चारदीवारी टूटने से यहां तालाब का पानी  बह जाता था। तालाब सूखा रहता था। 


जल संसाधन विभाग ने जब इसकी तालाब की सुरक्षा दीवार का जीर्णोद्धार हाथों में लिया तो तालाब लबालब होने लगा। दरा अभ्यारण्य में अरावली की पहाडि़यों के मध्य बना यह तालाब अब धीरे धीरे प्रवासी पक्षियों का आकर्षण का केन्द्र बनता जा रहा है। निकट भविष्य में तालाब उदपुरिया की तरह विकसित हो सकेगा। 


उधर, जलसंसाधन विभाग के अधीक्षक अभियंता आर. के.जेमिनी ने बताया कि जल संसाधन विभाग ने तालाब की सुरक्षा दीवार के जीर्णोद्वार पर दो करोड़ पिचहत्तर लाख रुपए खर्च किए है। 

Show More
shailendra tiwari
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned