'गहलोत को महंगा पड़ेगा मीसा बंदियों की सम्माननिधि बंद करना', लोकतंत्र रक्षा मंच की चेतावनी

लोकतंत्र रक्षा मंच ने दी बड़े आंदोलन की चेतावनी

कोटा. राज्य सरकारा द्वारा आपातकाल के दौरान जेलों में रहे मीसा बंदियो की सम्माननिधि बंद करने के निर्णय पर लोकतंत्र रक्षा मंच राजस्थान ने कड़ी आपत्ति जताई है।
। संस्था के कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष हनुमान शर्मा ने कहा कि सरकार ने लोकतंत्र सेनानियो की सम्माननिधि बंद कर लोकतंत्र पर प्रहार किया है। मौजूदा राज्य सरकार हर क्षेत्र में विफल हो गई है और अब आपाधापी में गलत निर्णय कर रही है। शर्मा ने कहा कि 1947 में आजादी के लिए बहुत बड़ी लड़ाई लड़ी गई थी । सैंकड़ो क्रांतिकारीयो ने बलिदान दिया था। उसके बाद 1975 में तत्कालीन पीएम इंदिरा गांधी ने आपातकाल थोप कर लोकतंत्र का गला घोंटा था तब लोकतंत्र की रक्षा के लिए लोगों ने संघर्ष किया था किसी की पढ़ाई बंद हो गई, कई परिवार उजड़ गए, जेलों में यातनाएं दी गई । ऐसे में पेंशन पर रोक लगाकर सरकार ने लोकतंत्र के प्रहरियों का अपमान किया है।

मेले में दोपहर 2 से रात 12 बजे तक निशुल्क
मिलेंगे कपड़े के थैले

हाईकमान से नम्बर बढ़ाना चाहते हैं मुख्यमंत्री
संस्था के प्रदेश उपाध्यक्ष गनपत लाल शर्मा ने कहा कि सम्माननिधि बंद करना सरकार को बहुत महंगा पड़ेगा। यह तो बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। ऐसा करके मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हाई कमान से नम्बर बढ़ाना चाहते हंै।

आंदोलन करेंगे
मंच के प्रदेश मंत्री बालचंद गर्ग ने कहा कि सरकार के फैसले के बाद प्रदेश भर लोकतंत्र सेनानियों में आक्रोश है। इसको लेकर आंदोलन किया जायेगा।

Rajesh Tripathi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned