कोटा में भी मूसलाधार बारिश, आकाशीय बिजली गिरने से 13 भैसों की मौत

नाले उफान पर आए, झरने बहने लगे

By: Ranjeet singh solanki

Published: 11 Aug 2020, 03:39 PM IST

कोटा. हाड़ौती में इस सीजन में पहली बार मंगलवार को भादों में सावन सी झड़ी लग गई। नाले उफान पर आ गए। झरने बह निकले। इससे किसान वर्ग खुश है। फसलों को जीवनदान मिला है। कोटा शहर में भी मूसलाधार बारिश हुई। जिससे सड़कों पर पानी बह निकला। नाले उफान पर आ गए। इससे निगम की सफाई व्यवस्था की पोल खुल गई। कई घरों में पानी भर गया। कई क्षेत्रों की बिजली आपूर्ति बाधित हो गई। उधर मण्डाना में आकाशीय बिजली गिरने से 13 भैंसों की अकाल मौत हो गई। पूर्व विधायक भवानीसिंह राजावत मौके पर पहुंचे और पीडि़त किसान को उचित मुआवजा का दिलाने का आश्वासन दिया। कोटा शहर में कई इलाकों में सुबह जब आंख खुली तो झमाझम बारिश का दौर चल रहा था। नए इलाके में डीसीएम, प्रेमनगर क्षेत्र में सुबह 6 बजे से बारिश का दौर चला, जो 9.30 बजे तक जारी रहा। तीन घंटे से अधिक समय तक हुई बारिश से प्रेमनगर का नाला उफान पर आ गया। लोग घरों में कैद होकर रह गए। इस क्षेत्र में मजदूर वर्ग ज्यादा रहते है, लेकिन पानी के कारण वे काम पर नहीं जा सके। वहीं नयापुरा व बोरखेड़ा क्षेत्र में दोपहर एक बजे तेज बारिश का दौर शुरू हुआ, जो डेढ़ बजे तक जारी रहा। मौसम विभाग ने पांच दिन कोटा संभाग में बारिश की ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। उसी के तहत मानसून की पहली झमाझम बारिश हुई

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned