कलियुगी मां की करतूत : प्रेमी संग मिलकर चार साल की पुत्री की हत्या, शव सरिस्का के जंगल में फेंका

सीढिय़ों से गिर कर घायल हुई मासूम के इलाज से बचने के लिए मारा
रॉन्ग नम्बर लगने के बाद शुरू हुई थी प्रेम कहानी

By: shailendra tiwari

Published: 15 May 2021, 07:20 PM IST

बूढ़ादीत (कोटा). कहते है मां ममता की मूरत होती है, लेकिन एक कलियुगी मां ने प्रेमी संग मिलकर चार साल की मासूम बेटी की हत्या कर शव जंगल में फेंक दिया।


पुलिस उपाधीक्षक शरद चौधरी ने बताया कि बोरखेड़़ा निवासी सुमित पुत्र हरदेव यादव ने थाने में पहुंचकर पत्नी के गुम होने की प्राथमिकी दर्ज करवाई थी। इसके बाद इटावा पुलिस उपाधीक्षक विजयशंकर शर्मा के निर्देशन व बूढ़ादीत थाना अधिकारी अविनाश कुमार के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम ने मामले की जांच शुरू की। तकनीकी जांच में सामने आया कि सुमित की पत्नी टीना उर्फ पुष्पा जयपुर जिले के उदावाला गांव में प्रेमी प्रहलाद सहाय के साथ रह रही है। पुलिस ने उसे दस्तयाब किया, लेकिन उसके साथ पुत्री नंदनी नहीं थी।

पुलिस को करते रहे गुमराह
पुलिस ने जब नंदनी के बारे में जानकारी जुटानी चाही तो दादा-दादी के साथ भेजने, बस स्टैंड पर छोडऩे सहित प्रेमी प्रहलाद व टीना ने पुलिस को अलग-अलग बात बताकर गुमराह किया। जब गहनता से पूछताछ की तो प्रेमी प्रहलाद ने हत्या की बात कबूली। इसके बाद पुलिस ने दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की। जांच टीम में थाना अधिकारी अविनाश कुमार, हैड कांस्टेबल सुरेशचंद वर्मा, सतपाल, प्रहलाद, पूरणसिंह, महिला कांस्टेबल माली जांच टीम ने शामिल रही।

इसलिए की हत्या
पुलिस ने गहनता से जांच शुरू की तो दोनों टूट गए। पूछताछ में बताया कि 9 दिसम्बर 2020 को मासूम नंदनी खेलते हुए छत की सीढिय़ों से गिर गई थी। इससे वह गंभीर घायल हो गई, दोनों ने नंदनी को ले जाकर शाहपुरा के चिकित्सक को दिखाया। चिकित्सक ने जयपुर रैफर कर दिया, लेकिन प्रहलाद व टीना उसे वापस घर ले आए। प्रेमी प्रहलाद मासूम के इलाज के लिए रुपए खर्च नहीं करना चाहता था। इस पर दोनों ने मिलकर 11 दिसंबर 2020 की रात को मासूम के मुंह को शॉल से दबाकर उसकी हत्या कर दी। साक्ष्य मिटाने के लिए शव को जंगल में फेंक दिया।

नहीं पसीजा मां का कलेजा
प्रेमी प्रहलाद के संग मिलकर मासूम नंदनी की हत्या करने के बाद भी मां का कलेजा नहीं पसीजा और हत्या को छुपाने के इरादे से अलवर स्थिति सरिस्का जंगल में मासूम को फेंक आई और प्रेमी के साथ आराम से रहने लग गई।

रोंग नंबर से शुरू हुआ प्रेम
टीना उर्फ पुष्पा बूढ़़ादीत थाना क्षेत्र के बोरखेड़़ा निवासी पति सुमित के साथ रह रही थी। इसी दौरान जयपुर जिले के मनोहर थाना क्षेत्र के उदावला निवासी प्रहलाद सहाय के गलती से पुष्पा का कॉल लग गया। रोंग नंबर से शुरू हुई बात धीरे-धीरे प्रेम में बदल गई। इसके बाद 11 नवंबर 2020 को प्रेमी प्रहलाद के कहने पर मासूम नंदनी को साथ लेकर जयपुर चली गई। उसके साथ रहने लग गई।

Show More
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned