'निरीक्षक तमतमाया तो पार्षद भड़के, कहा अब बोल के बताओ...'

सफाई संबंधी बैठक में पार्षद और स्वास्थ्य निरीक्षक भिड़ेमहापौर व उपमहापौर ने कहा यह रवैया ठीक नहीं

कोटा. शहर की सफाई व्यवस्था एवं बरसात से पहले नालों की सफाई के संबंध में महापौर महेश विजय व उप महापौर सुनीता व्यास ने गुरुवार को प्रशासनिक भवन में स्वास्थ्य निरीक्षकों की बैठक ली और इस बारे में आवश्यक निर्देश दिए।


बैठक में उप महापौर ने कचरा प्वाइंटों से समय पर कचरा नहीं उठाने की बात कही तो स्वास्थ्य निरीक्षक चन्द्रप्रकाश चतुर्वेदी ने तमतमाते हुए तल्ख अंदाज में कहा कि किसी को हमारा काम नहीं दिखता, केवल कमियां ही गिनाते हैं। 

kota/police-used-batons-on-people-in-kota-2235589.html">

ये भी पढें...गुमशुदा युवती की जानकारी करने गए लोगों पर पुलिस ने बरसाए डण्डे!


यह बात सुनकर पार्षद भड़क गए, उन्होंने चतुर्वेदी से कहा आपका बोलने का तरीका ठीक नहीं है। निरीक्षक फिर कुछ बोलने लगा तो पार्षद भगवान गौतम लपककर निरीक्षक के पास गए और कहा अब बोल के दिखा...। 


Read More : थाने में किशोर के बाल पकड़े, पट्टों से मारा!


इससे दोनों में तनातनी हो गई। बाद में महापौर व उप महापौर ने मामला शांत कराया। निरीक्षक से स्पष्ट कहा कि यह रवैया ठीक नहीं। जनप्रतिनिधियों का सम्मान करना सीख लें, नहीं तो परिणाम भुगतने होंगे। 


Read News : नाबालिग को बहलाकर ले गया, फिर किया गंदा काम


बैठक में पार्षद महेश गौतम लल्ली, धुव्र राठौर, हेमा सक्सेना, मीनाक्षी खण्डेलवाल, स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुकेश वर्मा, मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक रमाकान्त शर्मा आदि मौजूद थे।


Read More : NEET को लेकर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला


500 से 1000 रुपए का जुर्माना

महापौर ने सभी स्वास्थ्य निरीक्षकों को निर्देश दिए कि सड़कपर निर्माण सामग्री डालने वाले भवन निर्माताओं के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनकी केरिंग चार्जेज की रसीद काटी जाए।


सार्वजनिक सड़कों पर मलबा व अन्य सामग्री डालने पर 1000 वर्गफीट तक के मकान पर 500 रुपए तथा इससे बड़े आकार के मकानों पर 1000 रुपए का जुर्माना वसूला जाए। 


यह कार्य वार्डवाइज किया जाए और कार्रवाई की सूची प्रतिदिन प्रस्तुत की जाए। निर्देशों की अवहेलना करने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। बिना अनुमति भवन निर्माण करने वाले भवन मालिकों को नोटिस जारी किए जाएं।


कचरा उठाना सुनिश्चित करें

उपमहापौर ने स्वास्थ्य निरीक्षकों को निर्देश दिए कि मुख्य मार्ग के कचरा पाइन्टों से दोनों पारियों में कचरा उठाया जाए। मुख्य कचरा पाइन्टों पर कचरा डालने एवं उठाने का समय अंकित करते हुए सूचना बोर्ड लगाए जाएं। बारिश से पहले व बड़े नालों की सफाई की कार्य योजना तैयार की जाए।

shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned