नए अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट में नया कंट्रोल पैनल लगाया

नए अस्पताल ( कोविड डेडिकेटेड) में भर्ती मरीजों को अब सही फ्लो के साथ ऑक्सीजन की सप्लाई मिल सकेगी। रविवार देर रात अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट में नया कंट्रोल पैनल लगाया गया है।

 

 

By: Abhishek Gupta

Updated: 15 Sep 2020, 01:24 PM IST

कोटा. नए अस्पताल ( कोविड डेडिकेटेड) में भर्ती मरीजों को अब सही फ्लो के साथ ऑक्सीजन की सप्लाई मिल सकेगी। रविवार देर रात अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट में नया कंट्रोल पैनल लगाया गया है। नए अस्पताल अधीक्षक डॉ. सीएस सुशील, डॉ. आरपी मीणा समेत अन्य अधिकारियों की मौजूदगी में विधिवत तरीके के पूजा-अर्चना के बाद नए कंट्रोल पैनल से ऑक्सीजन सप्लाई शुरू हुई। ये कंट्रोल पैनल लेफ्ट बैंक व राइट बैंक के प्रेशर को मेंटेन करता है।
दरअसल नए अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट में लगा कंट्रोल पैनल काफ ी पुराना था। बार-बार खराब होने के कारण पुराने कंट्रोल पैनल से वार्डो में ऑक्सीजन की सप्लाई का फ्लो प्रॉपर नहीं जा रहा था। इसको लेकर कई बार शिकायतें भी सामने आई। शिकायतों के बाद मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने करीब 1 करोड़ की लागत से मेडिकल ऑक्सीजन पाइप लाइन सिस्टम को दुरुस्त करवाने का काम किया। इसके तहत ऑक्सीजन प्लांट में नया कंट्रोल पैनल, पाइप लाइन व वार्डो में पॉइंट लगवाए गए, ताकि भर्ती मरीजों को राहत मिल सके।
डॉ. संजय कालानी ने बताया कि नए अस्पताल में 283 ऑक्सीजन पाइंट लगने है, फि लहाल तीन वार्डो में काम पूरा हो चुका है। यूरोलॉजी, आर्थो व मेल सर्जिकल में पाइंट लग चुके है, बाकी वार्डो में काम जारी है।

गौरतलब है कि राजस्थान पत्रिका ने बीते दिनों नए अस्पताल में सिर्फ एक ऑक्सीजन सिलेंडर के भरोसे थे कोविड मरीज शीर्षक से 7 सितम्बर को ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर मामला उठाया था। उसके बाद जिला प्रशासन हरकत में आया और उन्होंने नई पाइन लाइड डालकर सभी बेडो को ऑक्सीजन पाइंट से जोड़ा है।

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned