indian railways: नए एसी कोच में अब पहले से ज्यादा यात्री सफर करेंगे

रेलवे के नए तृतीय श्रेणी एसी कोच में 72 बर्थ की तुलना में 83 बर्थ हैं। सस्ती और आरामदेह एसी यात्रा का अनुभव प्रदान करने के लिए भारतीय रेलवे ने नए 3 एसी इकनॉमी कोच की ट्रेन नंबर 02403 प्रयागराज-जयपुर एक्सप्रेस में सेवा शुरू की है। इस कोच के लिए किराया संरचना पुराने एसी कोच से 8 फीसदी कम है। शुरुआती तौर पर 50 नए ऐसे एसी इकोनॉमी कोच तैयार हैं।

 

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 07 Sep 2021, 10:40 AM IST

कोटा. भारतीय रेलवे हमेशा से बेहतर यात्री अनुकूल सुविधाओं के साथ कोच विकसित करके अपने यात्रियों की सुविधाजनक यात्रा के लिए प्रयासरत है। भारतीय रेलवे की इस विकास यात्रा में नया शामिल होने वाला एसी थ्री टियर इकनॉमी क्लास कोच है। नए कोच ने अपनी सेवा देना शुरू कर दिया है। पहली बार इस कोच को ट्रेन नंबर 02403 प्रयागराज-जयपुर एक्सप्रेस में जोड़ा गया है। तृतीय श्रेणी एसी कोच की 72 बर्थ की तुलना में नए एसी इकनॉमी कोच में 83 बर्थ हैं। इसके साथ ही इस कोच का किराया 3 एसी कोच से 8 फीसदी कम है। जल्द ही दो और ट्रेनों, ट्रेन नंबर 02429/02430 नई दिल्ली-लखनऊ एसी स्पेशल और ट्रेन नंबर 02229/02230 लखनऊ मेल में इस नए 3 एसी इकनॉमी कोच को जोड़ा जाएगा। शुरुआती तौर पर कपूरथला स्थित रेल कोच फैक्ट्री में निर्मित 50 नए इकनॉमी कोच विभिन्न क्षेत्रों में मेल, एक्सप्रेस ट्रेनों में अपनी सेवाएं देने के लिए तैयार हैं। इस कोच में प्रवेश और एक व्हील चेयर पर दिव्यांगों के अनुकूल शौचालय के प्रावधान किए गए हैं, जो कि एक नई पहल है। यात्री आराम में सुधार के लिए कई डिजाइन सुधार भी किए गए हैं। सभी बर्थ के लिए अलग-अलग सुराख प्रदान करके एसी वाहक पाइप प्रणाली को नए स्वरूप में बनाया गया है। आराम में सुधार, कोच का वजन कम करने और रखरखाव अनुकूलता में सुधार के लिए सीटों और बर्थों का बेहतर व मॉड्यूलर डिजाइन बनाया गया है। लंबवत और आड़ा, दोनों हिस्सों में मुडऩे योग्य टेबल, चोट न पहुंचाने वाली जगह और पानी की बोतल व मोबाइल फोन रखने के लिए बेहतर यात्री सुविधा है। प्रत्येक बर्थ के लिए व्यक्तिगत रीडिंग लाइट और यूएसबी चार्जिंग पॉइंट दिए गए हैं। मध्य और ऊपरी बर्थ तक पहुंचने के लिए सीढ़ी को एक नए एर्गोनॉमिक के रूप में उन्नत डिजाइन भी प्रदान किया गया है। मध्य और ऊपरी बर्थ में सिर से ऊपर का हिस्सा भी पहले से बढ़ा हुआ है।

वहीं सौंदर्यबोध की दृष्टि से आकर्षक व एर्गोनॉमिक (जिसमें कम मेहनत करना पड़े) प्रवेश द्वार के जरिए कोच तक पहुंचने के वातावरण और सुगमता में सुधार किया गया है। कोच के भीतरी हिस्से में ल्यूमिनसेंट गलियारा निशान, ल्यूमिनसेंट बर्थ नंबरों सहित नाइट लाइट्स के साथ एकीकृत इल्यूमिनेटेड बर्थ इंडिकेटर्स (संकेतक) हैं।

एसी 3-टियर इकनॉमी क्लास कोच की प्रमुख डिजाइन विशेषताएं

* बर्थ क्षमता 72 से बढकऱ 83 हो गई।
* सीटों और बर्थ का बेहतर और मॉड्यूलर डिजाइन।
* लंबवत और आड़ा, दोनों हिस्सों में मुडऩे योग्य टेबल।
* प्रत्येक बर्थ के लिए अलग-अलग एसी सुराख।
* दिव्यांगजनों के लिए प्रत्येक कोच में बड़ा शौचालय का दरवाजा और प्रवेश द्वार।
* प्रत्येक बर्थ के लिए व्यक्तिगत रीडिंग लैंप और यूएसबी चार्जिंग पॉइंट।
* मध्य और ऊपरी बर्थ, दोनों के लिए सिर से ऊपर के हिस्से में बढ़ोतरी।
* सार्वजनिक संबोधन और यात्री सूचना प्रणाली।
* सीसीटीवी कैमरा
* ऊपरी और मध्य बर्थ तक पहुंचने के लिए सीढ़ी का बेहतर डिजाइन।

Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned