रेल यात्रियों की संख्या घटी, कोटा जंक्शन पर 57.31 प्रतिशत कम हो गए यात्री

पश्चिम मध्य रेलवे के कोटा मंडल सहित अन्य मंडलों के स्टेशनों पर यात्रीभार में पिछले एक साल में कमी आई है। मार्च 2020 में कोटा जंक्शन पर 12 लाख 50 हजार 504 यात्रियों का आवागमन हुआ। वहीं मार्च 2021 में 5 लाख 33 हजार 816 यात्री ही आए।

By: Jaggo Singh Dhaker

Updated: 20 Apr 2021, 02:56 AM IST

कोटा. कोरोना संक्रमण के चलते पिछले एक साल में यात्रीभार में भारी गिरावट आई है। इसके बाद भी पश्चिम मध्य रेलवे ने 68 प्रतिशत रेल सेवा को री-स्टोर कर लिया है। अभी पश्चिम मध्य रेलवे से 79 ट्रेनों का संचालन हो रहा है, वहीं 619 ट्रेनें इस जोन से गुजर रही हैं। इसके अलावा 80 समर स्पेशल ट्रेनों का भी संचालन हो रहा है।

कोटा जंक्शन की बात करें तो मार्च 2020 की तुलना में मार्च 2021 में 57.31 प्रतिशत की कमी आई है, जबकि मार्च 2020 के तीसरे सप्ताह में ट्रेनों का संचालन थम गया था। मार्च 2020 में कोटा जंक्शन पर 12 लाख 50 हजार 504 यात्रियों का आवागमन हुआ। वहीं मार्च 2021 में 5 लाख 33 हजार 816 यात्री ही आए। अप्रेल माह में कोविड संक्रमण बढऩे से भी यात्रीभार प्रभावित हुआ है। कोटा मंडल के सवाई माधोपुर स्टेशन पर मार्च 2020 में 6 लाख 5 हजार 370 यात्रियों का आवागमन हुआ और मार्च 2021 में 1 लाख 92 हजार 626 यात्रियों का ही आवागमन हुआ। इस तरह से सवाई माधोपुर स्टेशन पर 68.18 प्रतिशत यात्रीभार कम हुआ। भरतपुर स्टेशन पर मार्च 2020 में 4 लाख 28 हजार 214 यात्रियों का आवागमन हुआ और मार्च 2021 में 1 लाख 32 हजार 532 यात्रियों को ही आवागमन हुआ। इस तरह 69.5 प्रतिशत यात्रीभार कम रहा।

इस तरह जोन के जबलपुर स्टेशन पर 40.9 प्रतिशत, भोपाल स्टेशन पर 15.49 प्रतिशत, हबीबगंज पर 22.51 प्रतिशत यात्रीभार कम रहा। पश्चिम मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राहुल जयपुरिया ने बताया कि लंबी दूरी की किसी भी टे्रन में अनारक्षित श्रेणी के यात्री सफर नहीं कर रहे हैं। यात्रीभार कम होने के बाद भी यात्रियों की सुविधाओं पर पर्याप्त ध्यान दिया जा रहा है। स्टेशनों पर खानपान की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है।

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned