covid 19 : कोरोना के कहर के बीच 600 किमी की दूरी तय कर पैदल आ गए श्रमिक

10 दिन की यात्रा में बोराव पहुंचे श्रमिक, अभी 3 सौ किलोमीटर की दूरी ओर तय कर घर पहुंचेंगे...

By: Dhirendra

Published: 08 Apr 2020, 05:57 PM IST

भैंसरोडगढ़ (रावतभाटा). कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रशासन ने जिले की सीमाएं सील कर दी है। इसके बावजूद बाहरी लोगों का क्षेत्र में आने-जाने का सिलसिला जारी है। हालांकि प्रशासन की ओर से पलायन रोकने के प्रयास किए गए फिर भी पलायन थमने का नाम नहीं ले रहा। जानकारी के अनुसार मंगलवार को जोधपुर के रामदेवरा से राहगीरों का दल बोराव गांव पहुंचा।

Read more : लॉकडाउन के बीच खुशखबरी: सरकार ने बनाया मोबाइल एप, क्लिक करते ही घर पहुंच जाएगा राशन

एक दर्जन से ज्यादा लोगों में महिलाएं, पुरुष व बच्चे शामिल थे, जो 10 दिन की यात्रा करके बोराव आए। सभी लोग झालावाड़ व मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। राहगीरों में शामिल राम बाबु, रघुवीर, रमेश, अशोक, शिव, छगनसिंह ने बताया कि सभी लोग जोधपुर जिले के रामदेवरा में मजदूरी करने गए थे। लॉकडाउन लागू होने से काम छूट गया, जिससे परिवार के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया।

Read more : बड़ी खबर: कोटा में 124 कोरोना संदिग्धों की जांच रिपोर्ट ने चौंकाया, भीमगंजमंडी क्षेत्र में कर्फ्यू बढ़ाया

वहीं, आवागम के संसाधन नहीं होने के कारण पैदल ही गंतव्य की ओर रवाना हो गए। 10 दिन की यात्रा में 600 किलोमीटर की दूरी तय कर बोराव पहुंचे हैं। अभी 3 सौ किलोमीटर की दूरी ओर तय कर घर पहुंचेंगे। श्रमिकों के दल में शामिल प्रभुलाल ने बताया कि मार्ग में समाजसेवियों ने भोजन व्यवस्था करवाई। मध्यप्रदेश के सिंगोली में प्रशासन ने सभी लोगों की जांच करने के बाद आगे जाने दिया।

Dhirendra Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned