आशियाने के पट्टे को तरसते लोगों को मिलेगी राहत, पालिका तैयार

नगरपालिका पहले दिन ही जारी कर सकती है 750 लोगों के पट्टे

By: Anil Sharma

Published: 23 Sep 2021, 11:49 PM IST

सांगोद. बरसों से अपने आशियानों के पट्टों को तरसते लोगों के लिए इस बार प्रशासन शहरों के संग बड़ी राहत लेकर आ सकता है। सब कुछ सही रहा और तय समय पर कार्य पूर्ण हुआ तो लोगों की बरसों पुरानी यह मांग इस बार शिविर में पूरी हो सकती है।
दो अक्टूबर से यहां नगर पालिका में शुरू होने वाले प्रशासन शहरों के संग अभियान के पहले दिन ही नगर पालिका ने साढ़े सात सौ लोगों को पट्टे जारी करने की योजना बनाई है। इसके लिए पालिका प्रशासन पूरी तैयारी में जुटा हुआ है। उल्लेखनीय है कि लोगों को एक छत के नीचे सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने एवं उनकी समस्याओं के समाधान को लेकर राज्य सरकार की ओर से प्रशासन शहर एवं गांवों के संग अभियान आयोजित किया जा रहा है।
नगरपालिका ने इस बार शिविर के पहले दिन ही साढ़े सात सौ लोगों को पट्टे जारी करने की योजना बनाई है। इसके लिए नगर पालिका प्रशासन द्वारा आवेदकनकर्ताओं की फाइलों की जांच के बाद भौतिक सत्यापन कर आपत्तियां भी मांगी जाने लगी है। आपत्ति दर्ज करवाने के लिए लोगों को सात दिवस का समय दिया गया है। जिसके बाद पट्टों की कार्रवाई होगी।

पहले थी बाध्यता
पूर्व में शिविर में स्टेट ग्रांट के तहत मिलने वाले पट्टों में तीन सौ वर्गगज अधिकतम की बाध्यता थी। इसकी वजह से कई लोगों को शिविरों का लाभ नहीं मिल पा रहा था। इस बार सरकार ने नगर पालिका अधिनियम की धारा ६९ के तहत भी रियायती दर पर पट्टे जारी करने की योजना बनाई है।
इसमें तीन सौ वर्ग गज की बाध्यता भी नहीं रहेगी। लोग इससे ज्यादा का भी पट्टा बना सकेंगे। हालांकि इसके लिए उन्हें २५ रुपए प्रति वर्गगज का शुल्क जमा करवाना होगा, लेकिन अधिकतम सीमा तीन सौ वर्ग गज से ज्यादा होने पर ढाई लाख रुपए जमा करवाकर इसका रिन्यूवल कराया जा सकेगा।
& प्रशासन शहरों के संग अभियान की तैयारियां शुरू कर दी गई है। अधिकाधिक लोगों को पट्टे मिले इसके पूरे प्रयास किए जा रहे है। प्रयास है कि पहले दिन ही साढ़े सात सौ लोगों को पट्टे मिले।
—मनोज कुमार मालव, अधिशासी अधिकारी, नगर पालिका सांगोद

Anil Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned