गड्ढ़ों में बेच रहे भूखंड, मास्टर प्लान की उड़ रही धज्जियां

कोटा में सरकारी जमीन को बेचना और कहीं भी अवैध कॉलोनी विकसित करना दबंगों के लिए बड़ी बात नहीं है। प्रशासन को सबकुछ पता होने के बाद भी अधिकारी कुछ नहीं कर पाते। वनभूमि और सिवायचक बेचे जा रहे हैं।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 19 Apr 2021, 10:09 AM IST

कोटा. कहने के लिए शहर के नियोजित विकास के लिए नगर विकास न्यास है, लेकिन उसके नियम और मास्टर प्लान को दबंग नहीं मानते। उनकी जहां मर्जी होती है वहां अवैध आवासीय योजना काटकर भूखंड बेच देते हैं। वन विभाग, तालाब और सिवाचक भूमि जहां कहीं भी खाली मिली वहां अतिक्रमण करके कॉलोनी काटने के कई मामले सामने आ चुके हैं, इसके बाद ठोस कार्यवाही नहीं होने से घर के सपने बेचने वालों के हौंसले बुलंद हैं। हाल ही में कोटा के अनंतपुरा क्षेत्र में खनन के उपयोग में ली गई भूमि पर अवैध रूप से आवासीय योजना विकसित की जा रही है। यहां गड्ढ़ों में ही भूखंड काटकर बेचे जा रहे हैं। कुछ जगहों पर फ्लाईऐश से गड्ढ़े भरकर रास्ते बनाए जा रहे हैं। यहां अवैध रूप से भूखंड बेचने की शिकायत पर पड़ताल की तो पाया कि यहां बिना किसी दस्तावेज के जरूरतमंदों को सस्ते का लालच देकर भूखंड बेचे जा रहे हैं। कोई दस्तावेज मांगता है तो अवैध भूखंड बेचने वाले फर्जी हस्ताक्षर के झूठा इकरारनामा थमा देते हैं, जिसमें छद्म विक्रेता की ओर से लिखा होता है कि सालों से इस भूखंड पर उसका कब्जा है अब वे इसे बेचे रहे हैं। अनंतपुरा क्षेत्र में करीब एक हजार से ज्यादा अवैध भूखंड बेचने की तैयारी की जा रही है। कई माह से यहां अवैध कॉलोनी में बसाने का खेल चल रहा है, लेकिन जिम्मेदार विभाग अधिकारियों की ओर से कोई कार्यवाही नहीं की गई है। यहां लोगों से जमीन की खातेदारी के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा, यहां सालों पहले खनन के लिए लीज दी गई थी, यहां से पत्थर निकाल लिया है अब गड्ढ़ों को बेचा जा रहा है। अल्प आय वाले श्रमिक झांसे में आकर सस्ते में भूखंड क्रय कर लेते हैं। यहां के लोगों से बात की तो उन्होंने बताया कि प्रभावशाली लोग पहले जमीन पर अतिक्रमण करते हैं और फिर उसे बेचते देते हैं और क्रय करने वाले उसे टुकड़ों में बेच देते हैं। इस बारे में जिला कलक्टर उज्जवल राठौड़ ने कहा कि इस मामले की जांच कराई जाएगी। संबंधित विभाग के माध्यम ये कार्यवाही कराई जाएगी।

Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned