कपड़ों में छिपाकर ले जा रहे थे स्मैक, पुलि‍स ने दबोचा

कपड़ों में छिपाकर ले जा रहे थे स्मैक, पुलि‍स ने दबोचा

shailendra tiwari | Publish: Jan, 14 2018 08:47:26 PM (IST) | Updated: Jan, 14 2018 08:53:14 PM (IST) Kota, Rajasthan, India

सौ ग्राम स्मैक समेत जयपुर के दो आरोपित गिरफ्तार, आरोपितों ने कपड़ों में छिपाकर रखी थी, पुलिस ने लिया रिमांड पर

 

मोड़क स्टेशन.(कोटा)। जिले में मादक पदार्थों की तस्करी करने वालों के खिलाफ ग्रामीण पुलिस ने विशेष अभियान चला रखा है। इसी के तहत शनिवार रात पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए सौ ग्राम स्मैक के साथ दो जनों को गिरफ्तार किया।

 

Read More: मेडिकल कॉलेज में रजत जयंती जश्न की खुशियों में घुली मिठास

 

कोटा ग्रामीण पुलिस अधीक्षक डॉ. राजीव पचार ने बताया कि शनिवार को स्पेशल टीम के सदस्य अजीत मोगा को दरा-कनवास तिराहे पर दो व्यक्तियों के पास अवैध मादक पदार्थ होने की सूचना मिली थी। इस पर थानाधिकारी डा. रवीश सामरिया टीम के साथ मौके पर पहुंचे।

 

Read More: Makar sankranti Special: क्या है मकर संक्रांति और पतंग का कनेक्शन, आखिर क्यों उड़ाते हैं इस दिन पतंग...जानिए खास रिपोर्ट में

 

पुलिस की जीप को देखकर सामने से आ रहे दोनों युवक भागने लगे। जिन्हें मोड़क पुलिस ने घेराबन्दी कर पकड़ लिया। गिरफ्तार युवक अनिल खटीक व मुकेश गुर्जर निवासी ट्रांसपोर्ट नगर क'ची बस्ती जयपुर के पास से कपड़ों में छिपाकर रखी 50-50 ग्राम स्मैक बरामद की।इसकी अंतरराष्ट्रीय कीमत करीब 10 लाख रुपए है। आरोपी अनिल खटीक पूर्व में भी मादक पदार्थो की तस्करी के आरोप में जेल जा चुका है।

 

Read More: Makar sankranti 2018: क्या आप जानते हैं, 31 दिसम्बर को मनाई जाती थी मकर संक्रांति, पढि़ए पर्व से जुड़ी खास मान्यताएं

 

थानाधिकारी सामरिया ने बताया कि गिरफ्तार दोनों आरोपितों को रामगंजमंडी न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लिया गया है। आरोपितों से मादक पदार्थ किससे खरीद कर लाए थे और कहां ले जा रहे थे।

 

Read More: Human Story: लालची बेटों ने मां को काल कोठरी और बाप को 3 साल तक बाथरूम में रखा बंद, एक हजार दिन तड़पते रहे बूढ़े मां-बाप

 

इसके बारे में पूछताछ की जाएगी। आरोपितों को पकडऩे गई स्पेशल टीम में सहायक उप निरीक्षक स्पेशल सेल अजीत मोगा, हैड कांस्टेबल भरत गुर्जर, कांस्टेबल विपुल चौधरी, भूपेन्द्र नागर, गौतम पंकज एवं शिवराम शामिल थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned