पुलिस की आंखों से काजल चुरा रही शीशातोड़ गैंग

पुलिस की आंखों से काजल चुरा रही शीशातोड़ गैंग

shailendra tiwari | Publish: Sep, 16 2018 04:37:01 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 04:37:02 PM (IST) Kota, Rajasthan, India

अपराधी बेखौफ, पुलिस लोगों को समझा रही, एक के बाद एक शहर में कारों से दिनदहाड़े पार हो रहे सामान

 

कोटा.शहर में कारों के कांच तोड़कर सामान चुराने वाली शीशातोड़ गैंग ने लोगों का दिन का चैन व रात की नींद उड़ा रखी है। कभी रात में सूने में वारदात को अंजाम देने वाले चोर अब शहर के व्यस्ततम बाजारों में दिनदहाड़े सरेआम एक साथ कई कारों के कांच तोड़कर सामान उड़ा रहे।

ऐसे देते हैं वारदात को अंजाम
ताबड़तोड होती वारदात के मद्देनजर पत्रिका ने पड़ताल की तो वारदात के तरीके की जानकारी तह मिली। गिरोह के सदस्य एकसाथ शहर के प्रमुख स्थानों पर कारों के भीतर झांकते हैं, बैग नजर आने पर वे अपने साथी को इशारा करते हैं। साथी डायमंड कटर से कार के बायीं तरफ की पिछली खिड़की के कांच में छेद बनाते हैं। इससे गैस ग्लास पंचर होकर तड़क जाता है। इसके बाद गिरोह के दो-तीन सदस्य आते हैं। तड़के कांच को कार की अंदर धक्का मारते हैं और कार में रखे बैग लेकर फरार हो जाते हैं।

एफआईआर दर्ज करने से डर रही खाकी -
शहर में लोग आए दिन ऐसे मामले लेकर थाने की चौखट पर तो पहुंच रहे हैं लेकिन पुलिस इनकी रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई करने की बजाय फरियादियों को ही निराश लौटा रही है।

दे रहे पुलिस को गच्चा -
शीशातोड़ गैंग शहर में गुमानपुरा, शोपिंग सेन्टर, जवाहर नगर, तलवंडी, विज्ञाननगर व इन्द्रा विहार समेत शहर के विभिन्न इलाकों में एक के बाद वारदातों को अंजाम दे रही है। शहर के व्यस्त बाजारों में गश्त लगाने, मुखबिरी करवाने व सीसीटीवी कैमरे, अभय कमांड समेत चौकियों व होमगार्ड के नेटवर्क के बाद भी हर बार गैंग पुलिस को गच्चा दे रही है। शहर में कोटड़ी चौराहे पर तो यातायात पुलिस हट के पिछवाड़े कांचतोड़ गैंग के सदस्य रुपए चुरा ले गए और पुलिस को हवा तक नहीं लगी।

अन्तरराज्यीय गिरोह संभव
पुलिस ने बताया कि ऐसी वारदातों को अंजाम देने वाले गिरोह के कई सीसीटीवी फुटेज मिले हैं। गिरोह में 7-8 सदस्य है, जिनकी आयु 18 से 25 वर्ष लग रही है। ये मध्यप्रदेश के भिंड मुरैना या आसपास के क्षेत्र के जैसे लग रहे हैं।

लक्जरी कारें को बना रहे निशाना
गिरोह के सदस्य शहर में व्यस्त स्थान पर खड़े हो जाते हैं। इसके बाद यहां आने वाली कारों के मालिक के कार खड़ी कर जाने के बाद ये उस कार में कीमती सामान को देखते हैं। बैग या अन्य कीमती सामान होने पर ये कुछ ही मिनटों में वारदात को अंजाम देकर फरार हो जाते हैं। पुलिस ने बताया कि कीमती सामान निकालने के बाद बैग को चाय की दुकान, लोडिंग ऑटो या अन्य ऑटो में छोड़ जाते हैं।

पोस्टर छपवाकर करेंगे जागरूक -
शीशातोड़ गैंग की वारदातों के बाद गुमानपुरा पुलिस गैंग के सदस्यों से बचने के लिए लोगों को अपनी कारों में सामान छोड़कर नहीं जाने की सलाह दे रही है। साथ ही इसके पोस्टर छपवाकर भी वितरित करने की तैयारी में है।

शीशातोड़ गैंग के सदस्यों की तलाश की जा रही है। गुमानपुरा में काफी गाडिय़ां रहती हैं। ऐसे में अपराधी वारदात को कुछ ही मिनट में अंजाम देकर भाग जाते हैं। लोगों को भी कार में बैग नहीं छोडऩे के लिए जागरूक कर रहे हैं।
आनंद यादव,थानाधिकारी, गुमानपुरा थाना

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned