अंतिम संस्कार के लिए पेड़ न कटें, इसलिए किया देहदान का संकल्प

पिता स्व. कैप्टन वी.के. शारदा के सामाजिक कार्यों से अति-प्रभावित रही हैं और अब तक 17 बार रक्तदान कर चुकी हैं।

By: shailendra tiwari

Updated: 29 Dec 2020, 12:42 AM IST

कोटा. शाइन इंडिया फाउंडेशन के नेत्रदान-अंगदान-देहदान के कार्यों से प्रेरणा लेकर गांवड़ी प्राइमरी विद्यालय की प्रधानाध्यापिका रीमा शारदा ने सोमवार को परिजनों की सहमति लेकर देहदान का संकल्प पत्र भरकर संस्था सदस्यों को सौंपा। उन्होंने बताया कि उन्हें बचपन से ही पेड़, पौधों, पक्षियों से लगाव है। पिता स्व. कैप्टन वी.के. शारदा के सामाजिक कार्यों से अति-प्रभावित रही हैं और अब तक 17 बार रक्तदान कर चुकी हैं। उन्होंने कहा कि देहदान के लिए राष्ट्रीय स्तर पर काम होना चाहिए, वृक्ष हमको जीवन देते है, स्वयं के स्वार्थ और अंतिम-संस्कार के लिए इन्हें जलाना सही नहीं है। यह सोच कर ही देहदान का निर्णय लिया।

Read more इधर एडीजी बोले, कोटा में चाकूबाजी को नियंत्रित करना होगा, उधर किशोर को चाकू मारे

बीते वर्ष में वह शाइन इंडिया फाउंडेशन के साथ नेत्रदान का संकल्प ले चुकी है,परंतु अभी जब उन्होंने शाइन इंडिया फाउंडेशन के देहदान अभियान के बारे में जाना,तो उनसे पूरी जानकारी ली । संस्था सदस्यों ने उनके घर पहुंचकर उनका देहदान संकल्प पत्र भरा,और उनको एक प्रशस्ति पत्र भी भेंट किया ।

shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned