scriptRabi crop sowing case in Kota division | बार-बार मावठ ने बिगाड़ी किसानों की गणित | Patrika News

बार-बार मावठ ने बिगाड़ी किसानों की गणित

कोटा सभाग में बार-बार मावठ के चलते इस वर्ष रबी फसल में धनिया की बुवाई का रकबा पिछले वर्ष से कम रहने की सभावना है। साथ ही अन्य रबी फसलों में सरसों बुवाई का रकबा पिछले वर्ष से काफी बढ़ा है। इसके साथ ही चना व लहसुन की बुवाई का रकबा भी बढ़ा है।

कोटा

Published: December 02, 2021 01:33:00 pm

कोटा. कोटा सभाग में बार-बार मावठ के चलते इस वर्ष रबी फसल में धनिया की बुवाई का रकबा पिछले वर्ष से कम रहने की सभावना है। साथ ही अन्य रबी फसलों में सरसों बुवाई का रकबा पिछले वर्ष से काफी बढ़ा है। इसके साथ ही चना व लहसुन की बुवाई का रकबा भी बढ़ा है।
सभाग में रबी फसलों में सरसों, लहसुन व चना की बुवाई पूरी हो चुकी है। पिछले दिनों मावठ की तीन दिन लगातार बारिश के चलते अब तक गेहूं की बुवाई 3.75 लाख हैक्टेयर में बुवाई ही हो पाई है। सभाग में गेहूं व धनिया की 1.25 लाख हैक्टेयर में बुवाई और होगी।
घनिया का रकबा घटा तो सरसों, चना व लहसुन का रकबा बढ़ा
बार-बार मावठ ने बिगाड़ी किसानों की गणित
यह भी पढ़ें
कोटा मंडी 1 दिसम्बर 2021: सोयाबीन, सरसों में तेजी, धान मंदा रहा

मावठ ने बदला किसानों का मानस
संयुक्त निदेशक कृषि डॉ. रामावतार शर्मा ने बताया कि बार-बार मावठ के चलते व धूप नहीं निकलने से धनिया की फसल में रोग लगाने का ज्यादा डर रहता है। साथ ही धनिया के भावों को देखते हुए उसकी लागत भी किसानों को नहीं मिल पाती। सभाग में पिछले वर्ष के मुकाबले धनिया की बुवाई 15 हजार हैक्टेयर कम होने की सभावना है।
इधर, सरसों के अच्छे भावों के चलते किसानों ने इस वर्ष सरसों की बुवाई पिछले वर्ष के मुकाबले 1 लाख 5 हजार हैक्टेयर ज्यादा रकबे में बुवाई हुई है। वहीं पिछले वर्ष के मुकाबले चना की 9 हजार व लहसुन की 14 हजार हैक्टेयर ज्यादा रकबे में बुवाई हुई है।
धनिये की बुवाई कम रहने का कारण
-बार-बार मौसम बदलने से रोग लगने व उत्पादन कम होने की सभावना
-धनिया का बाजार भाव कम मिलने व लागत ज्यादा होना
-सरसों का बाजार भाव अच्छा मिलने व उत्पादन ज्यादा होना
-सरसों का उत्पादन प्रति हैक्टेयर 24 से 28 क्विंटल, जबकि धनिया मात्र 11 से 12 क्विंटल होना
सभाग में बुवाई लक्ष्य
कोटा जिला
फसल लक्ष्य बुवाई
गेहूं 152000 97700
चना 50000 48205
सरसों 40000 62392

बूंदी जिला
गेहूं 155000 83563
चना 30000 19950
सरसों 50000 74035

जिला बारां
गेहूं 145000 91390
चना 47000 47377
बारां 102000 143480

जिला झालावाड़
गेहूं 120000 107101
चना 45000 48932
सरसों 45000 54364

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

Corona Vaccine: वैक्सीन के लिए नई गाइडलाइंस, कोरोना से ठीक होने के कितने महीने बाद लगेगा टीकायूपी की हॉट विधानसभा सीट : गुरुओं की विरासत संभालने उतरे योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादवक्या चुनावी रैलियों पर खत्म होंगी पाबंदियां, चुनाव आयोग की अहम बैठक आजदेश विरोधी कंटेंट के खिलाफ सरकार की बड़ी कार्रवाई, 35 यूट्यूब चैनल किए ब्लॉकCo-WIN में बदलाव, अब एक मोबाइल नंबर पर 6 लोग कर सकेंगे रजिस्ट्रेशनभिलाई में ईंट से सिर कुचलकर युवक की हत्या, रातभर ठंड में अकड़ा शव, पास में मिली शराब की बोतल और पर्चीथाने से सौ मीटर दूरी पर युवक की चाकू से गोदकर हत्या, इधर पत्नी का गला घोंट स्वयं फांसी पर झूल गया पतिसावधान! कोरोना वायरस फैला रहा टीबी, बढ़ती संख्या पर आइसीएमआर ने चेताया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.