कोटा में ऑक्सीजन रेगुलेटर की कालाबाजारी करते पकड़ा

कोटा. कोरोना के बढ़ते कहर के बीच कालाबाजारी करने वाले बाज नहीं आ रहे है। जीवनरक्षक दवाओं व उपकरणों के मनमाने दाम वसूले जा रहे है। नयापुरा क्षेत्र में ड्रग कंट्रोल विभाग की टीम ने एक मेडिकल स्टोर पर छापा मारा और महंगे दाम में ऑक्सीजन रेगुलेटर बेचने का भंडाफोड़ किया है। मेडिकल स्टोर पर छापेमारी से दवा कारोबारियों में हड़कम्प मच गया। सूचना पर नयापुरा पुलिस भी मौके पर पहुंची।

By: Deepak Sharma

Published: 11 May 2021, 05:11 PM IST

कोटा. कोरोना के बढ़ते कहर के बीच कालाबाजारी करने वाले बाज नहीं आ रहे है। जीवनरक्षक दवाओं व उपकरणों के मनमाने दाम वसूले जा रहे है। नयापुरा क्षेत्र में ड्रग कंट्रोल विभाग की टीम ने एक मेडिकल स्टोर पर छापा मारा और महंगे दाम में ऑक्सीजन रेगुलेटर बेचने का भंडाफोड़ किया है। मेडिकल स्टोर पर छापेमारी से दवा कारोबारियों में हड़कम्प मच गया। सूचना पर नयापुरा पुलिस भी मौके पर पहुंची।

सहायक औषधि नियंत्रक प्रहलाद मीणा ने बताया कि एक मरीज ने शिकायत दी थी कि जेके लोन अस्पताल के सामने स्थित ए जेड फ ार्मा पर 1200 रुपए के ऑक्सीजन रेगुलेटर के 5000 रुपए लिए जा रहे है। शिकायत पर ड्रग विभाग की टीम ने बोगस ग्राहक भेजा। बोगस ग्राहक को 5000 रुपए दिए।

इस दौरान टीम ने नोट के नम्बर लिख लिए। उसने मेडिकल स्टोर पर 5000 रुपए देकर ऑक्सीजन रेगुलेटर खरीदा। जिसके बाद ड्रग विभाग की टीम ने मेडिकल स्टोर पर छापा मारा। मेडिकल स्टोर संचालक के पास ऑक्सीजन रेगुलेटर के बिल भी नहीं मिले, वो बिना बिल के ऑक्सीजन रेगुलेटर बेच रहा था।

संचालक ने पूछताछ में बताया कि यह रेगुलेटर उसने जेके लोन अस्पताल के बाहर एक एम्बुलेंस चालक से खरीदा है। उसको भी फोन कर बुलाया, लेकिन आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कालाबाजारी करने के कारण मामले की सूचना डीएसओ को दी है। मामले की जांच की जा रही है।

Deepak Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned