11.56 लाख रेलकर्मियों को 1984.73 करोड़ रुपए बोनस देगा रेलवे

रेल कर्मचारियों को बोनस की घोषणा कर दी गई है। इसका भुगतान दशहरा से पहले कर दिया जाएगा। पात्र अराजपत्रित रेल कर्मचारियों को बोनस के भुगतान के लिए निर्धारित वेतन गणना की सीमा 7000 रुपये प्रतिमाह है। प्रति पात्र रेल कर्मचारी के लिए 78 दिनों की अधिकतम देय राशि 17951 रुपए है।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 06 Oct 2021, 04:24 PM IST

कोटा. रेलवे बोर्ड ने रेलकर्मियों को 78 दिनों के वेतन के बराबर उत्पादकता आधारित बोनस देने की घोषणा की है। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने बुधवार को वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा, कोरोनाकाल में भी रेलर्मियों ने बेहतर कार्य किया है। उन्हें और अच्छा कार्य करते रहने के लिए प्रोत्साहन देने के लिए बोनस की घोषणा की गई है। देशभर के रेलवे बोर्ड अध्यक्ष ने कहा, बोनस का भुगतान दशहरा पर्व से पहले कर दिया जाएगा। रेल कर्मचारियों को 78 दिनों के पीएलबी के भुगतान का वित्तीय भार 1984.73 करोड़ रुपए होने का अनुमान है। पात्र अराजपत्रित रेल कर्मचारियों को बोनस के भुगतान के लिए निर्धारित वेतन गणना की सीमा 7000 रुपये प्रतिमाह है। प्रति पात्र रेल कर्मचारी के लिए 78 दिनों की अधिकतम देय राशि 17951 रुपए है। इस निर्णय से लगभग 11.56 लाख अराजपत्रित रेल कर्मचारियों को लाभ होने की संभावना है। वित्तीय वर्ष 2010-11 से 2019-20 के लिए 78 दिनों के वेतन की पीएलबी राशि का भुगतान किया गया। वर्ष 2020-21 के लिए भी 78 दिनों के वेतन के बराबर पीएलबी राशि का भुगतान किया जाएगा। जिससे कर्मचारी रेलवे के कार्य निष्पादन में सुधार की दिशा में काम करने के लिए प्रेरित होंगे। रेलवे में उत्पादकता से जुड़ा बोनस पूरे देश में फैले सभी अराजपत्रित रेलवे कर्मचारियों आरपीएफ, आरपीएसएफ कर्मियों को छोडक़र को कवर करता है।

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned