मुख्यमंत्री गहलोत और धारीवाल आज कोटा में बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का हवाई दौरा करेंगे

मुख्यमंत्री गहलोत और धारीवाल आज कोटा में बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का हवाई दौरा करेंगे
मुख्यमंत्री गहलोत और धारीवाल आज बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का हवाई दौरा करेंगे

Rajesh Tripathi | Updated: 16 Sep 2019, 03:10:37 AM (IST) Kota, Kota, Rajasthan, India

जयपुर से आपदा प्रबंधन की टीम को कोटा भेजा जाएगा और नुकसान का सर्वे करेगी।

कोटा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल तथा आपदा राहत प्रबंधन मंत्री मास्टर भंवरलाल शर्मा सोमवार सुबह हाड़ौती के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे।

Alert : 24 घंटे में चम्बल में बढ़ेगा जलस्तर, पुलिस अधीक्षक ने संभाली कमान, आधा अमला बचाव कार्य में जुटा

धारीवाल ने बताया कि सुबह 8.30 बजे जयपुर से हैलीकॉफ्टर से रवाना होंगे। इससे पहले बूंदी जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वे करेंगे। इसके बाद कोटा शहर और जिले के प्रभावित क्षेत्र का तथा फिर झालावाड़ जिले का दौरा करेंगे। धारीवाल ने कहा कि बाढ़ के हालातों पर वे पिछले तीन दिन से लगातार निगराह रखे हुए हैं। आपदा प्रबंधन के जिला कलक्टर को आवश्यक दिशा निर्देश दिए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि बाढ़ का पानी उतरने के बाद जयपुर से आपदा प्रबंधन की टीम को कोटा भेजा जाएगा और नुकसान का सर्वे करेगी। इसके बाद विशेष बजट पैकेज दिया जाएगा। हाड़ौती विकास मोर्चा के संभागीय अध्यक्ष राजेन्द्र सांखला ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौराकर स्वायत्त शासन मंत्री को रिपोर्ट दी है।

बाढ़ के हालातों से पसीजा दिल, आज काम पर
लौटेंगे ठेका श्रमिक

चंबल में गिरा 33 केवी डबल सर्किट विद्युत पोल
चंबल की बाढ़ ने बिजली तंत्र को भी खासा नुकसान पहुंचाया है। कई जगह खंभे, ट्रांसफार्मर, पिलर बॉक्स पानी में डूबे हैं। रविवार सुबह चंबल के तेज बहाव में बापू कॉलोनी के पास स्थापित 33 केवी लाइन का डबल सर्किट पोल चंबल में गिर गया।33 केवी इन लाइनों को एहतियात के तौर पर पहले से ही बंद कर दिया गया था। केईडीएल के सीओओ मुकेश गर्ग ने बताया कि इस पोल से 33 केवी की दो लाइनें को चंबल के आरपार जाती हैं। इसमें एक लाइन सकतपुरा 33 केवी जीएसएस से व दूसरी 33 केवी गोपाल मिल जीएसएस से आती है। चंबल में आए भारी उफान के कारण कुन्हाड़ी की तरफ वाला डबल सर्किट पोल नदी में गिर गया और तार टूट गए। इनसे नयापुरा व आसपास के क्षेत्रों में बिजली सप्लाई होती है।
केईडीएल ने नयापुरा व आसपास के क्षेत्रों में बिजली सप्लाई की वैकल्पिक व्यवस्था की है। गर्ग ने बताया कि यह व्यवस्था क्षतिग्रस्त लाइन को दुरुस्त होने तक रहेगी।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned