मंडी व्यापारियों को सरकार का बड़ा तोहफा, 75 प्रतिशत तक की मिलेगी छूट..पढि़ए पूरी खबर

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से व्यापारियों ने लगाई थी गुहार

 


कोटा। राज्य सरकार ने कृषि उपज मंडियों के व्यापारियों को बड़ी राहतदी है। सरकार ने बकाया मंडी शुल्क एवं अन्य राशि के प्रकरणों के निराकरण के लिए ब्याज माफी योजना लागू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इस योजना के तहत 30 सितम्बर 2019 तक के बकाया मंडी शुल्क एवं अन्य राशि 31 मार्च 2020 तक चुकाने पर व्यापारियों को मूल ब्याज राशि तथा विलम्ब शुल्क में 75 प्रतिशत की छूट मिलेगी।

उल्लेखनीय है कि राज्य में मंडी शुल्क एवं अन्य राशि के बकाया रहने की स्थिति में मंडी स्तर पर तथा न्यायालयों में प्रकरण विचाराधीन रहते हैं। बीते दिनों मंडी व्यापारियों ने मुख्यमंत्री से इस संबंध में सहानुभूतिपूर्वक विचार कर ब्याज माफी योजना प्रारंभ करने का अनुरोध किया था। जिस पर गहलोत ने इस संबंध में प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी है।

मर्दानी 2 को लेकर विवाद में अब करनी सेना की एंट्री, ' अगर फिल्म चलाई तो...

इस योजना के लाभ उन व्यापारियों को भी मिलेगा जिन्होंने सम्पूर्ण मूल बकाया राशि अथवा इसका कुछ भाग जमा करा दिया है, लेकिन उन पर ब्याज अथवा विलम्ब शुल्क अभी भी बकाया है। हालांकि जिन बकायादारों से पूर्व में ब्याज सहित राशि की वसूली हो चुकी है, उन्हें ब्याज में छूट का लाभ नहीं मिल पाएगा। योजना का लाभ लेने के लिए बकायादारों को उनके द्वारा किसी भी न्यायिक स्तर पर दायर वाद एवं प्रकरण वापस लेने होंगे

Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned