राजस्थान सरकार का बड़ा फैसला, अब इन सभी को मिलेगी खाद्य सुरक्षा

प्रवासी श्रमिक व 37 श्रेणियों को मिलेगी खाद्य सुरक्षा,
31 मई तक सर्वे पूर्ण करने के निर्देश

By: KR Mundiyar

Published: 28 May 2020, 11:43 PM IST

कोटा. कोविड-19 (Corona) के कारण अस्थाई रूप से बंद हुए उद्योगों से प्रभावितों गेहूं का वितरण किया जाएगा। प्रवासी श्रमिकों तथा अन्य विशेष श्रेणियां जो खाद्य सुरक्षा योजना में शामिल नहीं है उनके लिए सर्वे जारी है जो 31 मई तक चलेगा। इसके लिए ई मित्र पोर्टल पर या मोबाइल एप पर फॉर्म में अपनी जानकारी दर्ज करनी होगी।

बड़ी लापरवाही : कोरोना अस्पताल में दर्द से तड़प-तड़प कर मरीज की मौत

जिला कलक्टर ओम कसेरा ने बताया कि यह सुविधा दो तरह के व्यक्तियों के लिए होगी। पहले ऐसे व्यक्ति जो राजस्थान के निवासी है और उनके पास जन आधार कार्ड है एवं परिवार एनएफएसए में चयनित नहीं है। दूसरे ऐसे व्यक्ति जो राजस्थान के निवासी नहीं है और राजस्थान में निवास कर रहे हैं। जिनके पास जनआधार कार्ड नहीं हैं एवं वह परिवार एनएफएसए में चयनित नहीं है उन्हें मदद मिलेगी। जिन व्यक्तियों को 2500 रुपए का लाभ मिल चुका है वह इस योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे।

Re-Calling Kota : कोरोना में सिंगलरूम कल्चर कोटा की बड़ी ताकत

ये लाभ ले सकेंगे
हेयर सलून में कार्य करने वाले कार्मिक, धुलाई एवं प्रेस करने वाले कार्मिक, फुटवेयर मरम्मत, घरों में सफाई, खाना बनाने वाले, चौराहे पर सामान बेचने वाले, रिक्शा, ऑटो चलाने वाले, पान की दुकान चलाने वाले, रेस्टोरेंट, होटल में वेटर, रसोईया, रद्दी बीनने वाले, भवन निमार्ण श्रमिक, कोरोना के कारण बंद हुए उद्योगों के श्रमिक, प्राइवेट ड्राईवर, कंडक्टर, ठेला, रेहड़ी वाले, स्ट्रीट वेंडर, पूजा, इबादत कर्म कांड एवं धार्मिक कार्य कराने वाले व्यक्ति केटरिंग कार्य करने वाले कार्मिक, सिनेमा हॉल में काम करने वाले, कोचिंग संस्थानों के सफाई, सहायक का कार्य करने वाले कार्मिक, विवाह समारोह आदि में बैंड, ढोल बजाने वाले कार्मिक, घोड़ी वाले, गाने बजाने वाले, आभूषण, चूडिय़ों के काम में लगे श्रर्मिक, फर्नीचर के काम में लगे श्रमिक, बुक बाईडर, प्रिंटिंग प्रेस कार्य में लगे श्रमिक, रंगाई, पुताई करने वाले, पर्यटन गाइड का काम करने वाल, कठपुतली का खेल दिखाने वाले एवं बनाने वाले व्यक्त्,ि ईट भट्टों में श्रमिक, फूल-मालाओं का काम करने वाले श्रमिक, टायर पंचर बनाने वाले श्रमिक,पत्तल-दोने बनाने वाले, श्रमिक, घुमंतू, झूले वाले, खेल तामाशा दिखाने वाले, जादू करतब दिखाने वाले, लोककलाकार-कालबेलिया, मांगनियार, कुली, हमाल, मिट्टी के बर्तन बनाने वाले एवं अन्य कार्मिक शामिल है।

Corona virus
Show More
KR Mundiyar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned