मौज-मस्ती में धूप का पता ही नहीं चला

संतुलन बनाकर साइकिल चलाते युवक, नन्हे हाथों में कलम थामकर कोरे कागज पर पक्षी, पेड़-पौधों की आकृतियां बनाते बच्चे, परिवार सहित चहल-कदमी करते लोग, नृत्य की बारीकियां सीखती युवतियां।

By: shailendra tiwari

Published: 24 Apr 2016, 07:59 PM IST

संतुलन बनाकर साइकिल चलाते युवक, नन्हे हाथों में कलम थामकर कोरे कागज पर पक्षी, पेड़-पौधों की आकृतियां बनाते बच्चे, परिवार सहित चहल-कदमी करते लोग, नृत्य की बारीकियां सीखती युवतियां। किशोर सागर तालाब की पाल पर रविवार सुबह कमोबेश एेसे ही नजारे देखने को मिले।


राजस्थान पत्रिका की पहल पर हर रविवार की भांति इस बार भी हमराह का आयोजन किया गया। यहां सुबह 5 बजे ही से लोगों की आवाजाही शुरू हो गई। 

kota/tents-businessman-death-in-kota-2233978.html">

Read More : टेंट व्यवसायी की मौत, शव के साथ लोगों का प्रदर्शन


छह बजे तक तो हमराह में सैकड़ों लोग पहुंच गए। सुबह नौ बजे तक घोषित नो व्हीकल जोन में लोगों ने जमकर मौज-मस्ती व मनोरंजन किया। 


इस दौरान कब तेज धूप निकल आई, लोगों को पता नहीं चला। यहां कोई गाना गुनगुनाता नजर आया तो कोई नाचता। बच्चों ने स्केटिंग के करतब दिखाए। एक ओर बुजुर्गों की टोली योग व प्राणायाम करती दिखी।

shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned