माह-ए-रमजान: खुदा के साथ इंसान का ताल्लुक मजबूत रखना रमजान का मकसद

Suraksha Rajora

Publish: May, 06 2019 09:10:39 PM (IST) | Updated: May, 06 2019 09:10:41 PM (IST)

Kota, Kota, Rajasthan, India

कोटा. रमजान का महीना एक गर्म पत्थर से मायने रखता है। उस जमाने में अरब में आज से भी ज्यादा गर्मी होती थी। इस तपते पत्थर से नसीहत ली गई कि जैसे यह सूरज की किरणों से तप रहा है, वैसे ही तुम अल्लाह की इबादत में तपकर अपने तन-बदन व रुह को पाक बना लो। इस्लाम की पांच बुनियादों में से एक रमजान है। इन दिनों की गई इबादत बहुत ही खास होती है। रोजा ऐसी इबादत है जिसका मकसद खुदा के साथ इंसान का ताल्लुक मजबूत रखना है। साथ ही अपनत्व का भाव बढ़ाता है।


रमजान में यह हिदायत होती है कि इंसान चाहे अमीर हो या गरीब वह अपने आस-पास के लोगों का भी उसी तरह से ख्याल रखे जैसे अपनों का रखता है। रमजान व्यक्ति को सब्र, संयम, परहेगारी और बुराइयों से बचते हुए जीवन जीने की सीख देता है।

पैगम्बर हजरत मोहम्मद साहब ने फरमाया कि रोजे के जरिए भूख, प्यास और तमाम ख्वाहिशों और चाहतों से सुबह सादिक यानी पौ फटने से लेकर सूरज डूबने तक सब्र करना होता है। जब कुछ हलाल चीजों से रोजेदार रुकता और परहेज करता है तो उसके लिए हराम, गलत बातों व बुरे काम से बचना आसान हो जाता है।

 

यूनानी चिकित्साधिकारी डॉ. शमीम खान बताते है कि रमजान का मतलब सिर्फ भूखे-प्यासे रहना नहीं है। यह खास माह बताता है कि प्रशिक्षण में जो सीखा है उसे जीवन में आत्मसात करें। यह माह संयम और Spirituality के मार्ग पर आगे बढऩे, लोगों के दुख-दर्द समझने, नेक व ईमान की राह पर चलने व जीवन को संवारने की सीख देता है।

 

साथ ही बुराइयों से लडऩे की ताकत देता है। दरअसल, रमजान इस बात का प्रशिक्षण देता है कि इंसान अपने जीवन में मन, वचन और कर्म तीनों ही तरह से किसी का बुरा न करे। हाथों से कोई गलत कार्य न हो। कदम बढ़े तो भलाई के लिए, मुंह से शब्द निकले तो दुआ के लिए। कान से बुरा न सुने, आंखें बुरा न देखे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned