बलात्कार प्रकरण: थानेदार लाइन हाजिर, लापरवाही बरतने पर एएसआई निलम्बित

सामूहिक बलात्कार मामले में बरती गई लापरवाही की जांच रामगंजमंडी वृत्ताधिकारी को सौंपी गई थी। जिसमें प्रथम दृष्टया सहायक उप निरीक्षक बाबूलाल की लापरवाही तथा थानाधिकारी की पर्यवेक्षणीय लापरवाही पाई गई।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 17 Mar 2021, 01:09 AM IST

कोटा. नाबालिग से सामूहिक बलात्कार के मामले में लापरवाही बरतने के ग्रामीण पुलिस अधीक्षक ने मंगलवार को ग्रामीण क्षेत्र के थाना के सहायक पुलिस उप निरीक्षक बाबूलाल को निलम्बित कर दिया है। एसपी शरद चौधरी ने बताया कि बलात्कार मामले में बरती गई लापरवाही की जांच रामगंजमंडी वृत्ताधिकारी को सौंपी गई थी। जिसमें प्रथम दृष्टया सहायक उप निरीक्षक बाबूलाल की लापरवाही तथा थानाधिकारी की पर्यवेक्षणीय लापरवाही पाई गई। जिस पर बाबूलाल को निलम्बित कर दिया गया है एवं थानाधिकारी नारायण को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इसी बीच नाबालिग से गैंगरैप के मामले में पीडि़ता व उसके परिजनों को धमकियां दिए जाने की शिकायत सामने आई है। बालिका व उसकी मां ने सुरक्षा उपलब्ध कराने की मांग की है। पुलिस का दावा है कि अब तक तफ्तीश में २० नाम सामने आए थे। १६ आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है और चार नाबालिग को निरुद्ध किया जा चुका है। बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष कनीज फातिमा, सदस्य मधु शर्मा, आबिद अब्बासी, बाल अधिकारिता विभाग के बाल संरक्षण अधिकारी दिनेश शर्मा, काउंसलर आरती जोशी, ओडब्ल्यू संजय मेहरा ने मामले में संज्ञान लेकर मंगलवार को अलग-अलग समय में पीडि़त बालिका के गांव पहुंचे। उन्होंने पीडि़त बालिका की काउन्सिलिंग करवाई। इसमें बालिका ने बयान दिया कि उसके गांव मे पड़ौस में रहने वाली महिला बुलबुल उसे बैग दिलाने के बहाने मोटरसाइकिल पर एक युवक के साथ लेकर गई थी। दोनों उसे एक पार्क में तीन युवकों को सौंपकर आ गए। तीनों युवकों ने उसके साथ सामूहिक रूप से बलात्कार किया। बलात्कार करने वाले आरोपियों के नाम भी बताए हैं।
सदस्य मधु शर्मा ने बताया कि पीडि़ता ने बयान में कहा कि आरोपी नशे का इंजेक्शन लगाकर बलात्कार करते थे। उसे जबर्दस्ती नशा करवाया गया। पीडि़ता व उसकी मां ने उन्हें बताया कि अभी उन्हें आरोपियों की ओर से धमकियां दी जा रही है। इस कारण उन्हें जान का खतरा है। पुलिस सुरक्षा उपलब्ध कराई जाए।
बाल कल्याण समिति ने संबंधित थानाधिकारी को तत्काल सुरक्षा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। अध्यक्ष ने बताया कि समूचे मामले की रिपोर्ट तैयार कर जयपुर प्रेषित की जाएगी। बाल कल्याण समिति बालिका को सपोर्ट पर्सन भी उपलब्ध कराएगी तथा बालिका को पीडि़त प्रतिकर के तहत मुआवजा भी दिलवाया जाएगा।
इस मामले में ग्रामीण पुलिस के अतिरिक्त अधीक्षक पारस जैन ने बताया कि सामूहिक बलात्कार मामले में अब तक की तफ्तीश में जो नाम सामने आए थे। सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। मामले की तफ्तीश चल रही है। पीडि़ता व उसके परिवार को धमकी देने जैसी बात हमारे पास नहीं आई है। बाल कल्याण समिति का इस संबंध में अभी पत्र आया है। बालिका को सुरक्षा उपलब्ध करवाई जा रही है।

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned