सड़क पर आ गया अजगर तो फिर देखिए क्या हुआ....जानने के लिए पढि़ए पूरी खबर

कोटा. रावतभाटा रोड वर्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय क्षेत्र में सड़क पर पड़े एक अजगर को रेस्क्यू कर इसे जंगल में सुरक्षित स्थान पर छोड़ा।अजगर करीब 10 फीट लंबा व काफी मोटा था।

 

 

By: Hemant Sharma

Published: 20 Oct 2020, 10:48 PM IST


कोटा. रावतभाटा रोड वर्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय क्षेत्र में सड़क पर पड़े एक अजगर को रेस्क्यू कर इसे जंगल में सुरक्षित स्थान पर छोड़ा। प्रो. विनोद महोबिया सर्प एवं मानव कल्याण सोसायटी के रेस्क्यूर रोकी डेनियल ने बताया कि शिवपुरा से किसी ने सूचना दी थी कि एक बड़ा अजगर रोड़ पर पड़ा हुआ है। वाहन के नीचे आने से इसकी मौत हो सकती है।

इस पर वह मौके पर पहुंचे तो देखा कि अजगर सड़क पर पड़ा हुआ मिला। डेनियल ने मौके से अजगर को पकड़कर क्षेत्रीय वन अधिकारी संजय नागर के दिशा निर्देशानुसार इसे वन क्षेत्र में सुरक्षित स्थान पर छोड़ा गया। अजगर करीब 10 फीट लंबा व काफी मोटा था।इसे पकडऩे मेेंं डेनियल को करीब आधा घंटा लगा।

अन्य सर्प भी पकड़े

डेनियल ने अजगर के अलावा अलग अलग स्थानों से अन्य सर्प भी पकड़े। विनोबा भावे नगर से एक 4 फुट व जगपुरा क्षेत्र से घर में घुसे पांच फुट लंबे कोबरा प्रजाति के सर्पों को भी रेक्स्क्यू किया गया। रोझड़ी स्तिथ रामदेव मंदिर के पास व इनकम टैक्स कॉलोनी से धामन प्रजाति के सर्प पकड़े। इन सभी को वन विभाग की मदद से जंगल में सुरक्षित रूप से छोड़ा गया।

सर्दी में नहीं आएंगे नजर

विषय के जानकारों के अनुसार रेप्टेलिया वर्ग के जीव हमेशा नजर नहीं आते हैं। यह बिलों में रहते हैं। मार्च-अप्रेल में गर्मी पडऩे लगती है तो ये बिलों से निकलकर बाहर आ जाते हैं। फिर जैसे-जैसे सर्दी पडऩे लगती है , ये वापस बिलों में चले जाते हैं। नवम्बर के बाद इनका दिखना कम हो जाता है। बारिश मंें इनसे ज्यादा खतरा रहता है।

Show More
Hemant Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned