Sand mining in Chambal River: लूट रहे चंबल का 'खजाना'

चंबल नदी से रेत निकालने पर प्रतिबंध है, लेकिन इंसानी स्वार्थ के आगे यह प्रतिबंध मात्र दिखावा साबित हो रहा है।

By: shailendra tiwari

Published: 30 Apr 2016, 02:33 PM IST

चंबल नदी से रेत निकालने पर प्रतिबंध है, लेकिन इंसानी स्वार्थ के आगे यह प्रतिबंध मात्र दिखावा साबित हो रहा है। सरकारी सख्ती के अभाव में नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ रही हैं।

आज भी चंबल नदी से रंगपुर गांव के पास खुलेआम पहले नावों से रेत बाहर निकाली जाती है, इसके बाद उसे ट्रकों में भरा जाता है। यह काम दिन-दहाड़े होता है।

ट्रक को रंगपुर गांव में नदी पर बनी रपट पर कुछ दूरी तक पानी में उतार दिया जाता है, यहां रेत से भरी नाव को ट्रक के नजदीक लाकर उसमें रेत भर दी जाती है। इस जगह से रंगपुर व केशवरायपाटन के बीच यात्री नावें भी चलती हैं और दिनभर लोगों की आवाजाही रहती है। इसके बाद भी रेत का अवैध कारोबार करने वालों को किसी का खौफ नहीं है। शुक्रवार को नदी से नाव में रेत निकलने के बाद ट्रक में भरते लोग।


उधर क्षेत्रीय वन अधिकारी दाताराम के अनुसार चंबल से रेत निकालने जैसी कोई शिकायत मेरे पास नहीं आई है। फिर भी यदि ऐसा हो रहा है तो इसे दिखवाया जाएगा।   
                                                                     फोटो - हाबूलाल शर्मा

Show More
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned