कोटा बचाओ संघर्ष समिति ने किया जल सत्याग्रह

कोटा में क्लासरूम कोचिंग शुरू करवाने के लिए कोटा बचाओ संघर्ष समिति का आंदोलन शनिवार को भी जारी रहा। दूसरे दिन समिति के सदस्यों ने भीतरिया कुण्ड क्षेत्र स्थित चम्बल नदी के तट पर जल सत्याग्रह किया।

 

 

By: Abhishek Gupta

Published: 22 Nov 2020, 01:38 PM IST

कोटा. कोटा में क्लासरूम कोचिंग शुरू करवाने के लिए कोटा बचाओ संघर्ष समिति का आंदोलन शनिवार को भी जारी रहा। दूसरे दिन समिति के सदस्यों ने भीतरिया कुण्ड क्षेत्र स्थित चम्बल नदी के तट पर जल सत्याग्रह किया। यहां पानी में खड़े रहकर सरकार से कोटा में क्लासरूम कोचिंग शुरू करवाने की मांग की। सदस्यों ने कहा कि इन दिनों छठ का पर्व चल रहा है और हम सभी कोटा शहरवासी छठ मैया से ये प्रार्थना करते हैं कि कोटा में जल्द से जल्द कोचिंग शुरू हो, इसके लिए सरकार जल्द आदेश जारी करें। यदि कोटा में कोचिंग शुरू नहीं हुई तो हालाता विपरीत हो जाएंगे।

पहले से ही बेरोजगारी का हाल दिनों दिन बढ़ता जा रहा है। सबसे पहले समिति के सदस्यों ने भीतरिया कुण्ड में सूर्यदेव को नमस्कार करने के बाद हाथों में कोटा बचाओ की तख्तियां लेते हुए एक-एक करके पानी में उतरे और कमर तक के पानी में खड़े रहे।

सदस्यों ने यहां करीब एक घंटे तक नारे लगाए और प्रदेश सरकार से निवेदन किया कि कोटा में जल्द क्लासरूम कोचिंग खोलने के लिए आदेश जारी करें, अन्यथा कोटा बर्बाद हो जाएगा, लोग बेरोजगार हो जाएंगे। सदस्यों का कहना है कि लॉकडाउन के चलते मार्च से कोटा में कोचिंग क्लासेज बंद है। इससे कोचिंग, हॉस्टल के अलावा सबसे Óयादा नुकसान फु टकर व्यापारियों को हुआ है। ये हजारों लोग बेरोजगार है।

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned