दो विदेशियों की सुरक्षा खतरे में डाल दी वन विभाग के अफसरों ने ! जानिए क्या है पूरा मामला

Suraksha Rajora

Updated: 16 Mar 2019, 07:00:01 AM (IST)

Kota, Kota, Rajasthan, India

कोटा. कोटा में वन विभाग के कारिंदों ने नियम विरूद्ध जा कर दो विदेशी पर्यटकों की सुरक्षा खतरे में डाल दी। उन्हें चंबल नदी में बिना किसी सुरक्षा जैकेट और सेफ्टी उपकरण के बोट में घुमाया गया। वन विभाग के यह गश्ती बोट है, जिसमें पर्यटकों को नहीं ले जाया जा सकता है। बोट पंजीकृत भी नहीं है। मामला तीन दिन पुराना है,लेकिन इसका खुलासा शुक्रवार को हुआ है। अब वन विभाग के अफसर मामले को दबाने में जुटे हुए हैं।

 

Read More: Special Report : 66 बरस में 16 चुनाव लेकिन एक भी महिला सांसद नहीं..

 

जानकारी के अनुसार विभाग की बोट गश्त व चंबल क्षेत्र में निगरानी के लिए है, लेकिन अफसरों ने इस बोट में ही विदेशी पर्यटकों को सैर सपाटा कराया। वन विभाग के सूत्रों के अनुसार पर्यटक भैंसरोडगढ़ आए थे, इसके बाद जवाहर सागर से खाली बोट भैंसरोडग़ढ़ भेजी गई। वहां से पर्यटक सवार हए। उन्हें चंबल नदी में भ्रमण करवाया। पर्यटक नदी के एरो तक घूमकर वापिस भैंसरोडगढ़ लौटे, यहां से बोट वापस जवाहर सागर आई।

 

Read More: Election 2019: खान मंत्री के घर ऐसी क्या आफत आई कि मच गया बवाल...

 

सरकारी बोट को करीब पचास किलोमीटर नदी में बेजा चलाया गया। इस दौरान ना तो बोट के चालक ने और ना ही किसी पर्यटक ने सुरक्षा जैकेट पहनी थी। बोट में फोटो और वीडियो बनाए गए। बोट में अन्य कोई सुरक्षा उपकरण भी नहीं थे। सूत्रों के अनुसार घडियाल अभयारण्य में ऐसे में किसी भी खतरे की स्थिति में बचाव के कोई उपाय नहीं थे।

 

 

बोट में एक स्थानीय भी सवार थे। विभाग को भाड़े पर बोट चलाने की अनुमति भी नहीं है। मुकुन्दरा हिल्स टाइगर रिजर्व की लोकल एडवाइजरी कमेटी के सदस्य तपेश्वर सिंह भाटी के अनुसार वन विभाग की बोट भाड़े पर चलाने में काम में नहीं ली जा सकती। एेसे में मामलों में कहीं कोई घटना घटित हो जाती तो विभाग और सरकार को जवाब देना भारी पड़ सकता है। वैसे भी विभाग की बोट सिर्फ गश्त के लिए ही काम में ली जा सकती है। सरकारी बोट का इस तरह से दुरुपयोग करना गलत है। वन विभाग इस मामले में दोषी के खिलाफ कार्रवाई करे।

 

विभाग की बोट में पर्यटकों को ना

वन विभाग की बोट में किसी पर्यटक को नहीं बिठाया जा सकता। हालांकि मेरे पास इस तरह की कोई शिकायत नहीं आई है, लेकिन एेसा हुआ है तो यह गंभीर है। मामले में पूरी जानकारी जुटा कर कार्रवाई की जाएगी। - आनंद मोहन, मुख्य वन संरक्षक, वन्यजीव विभाग


शिकायत आई है जांच कर रहे हैं

वन विभाग की बोट से पर्यटकों को घूमाने की शिकायत आई है। शिकायत के आधार पर जानकारी जुटाई जा रही है। मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा,उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।- टी मोहन राज, उप वन संरक्षक वन विभाग


विदेशी पर्यटक आते रहते हैं

हमारे यहां इग्लैंड, आस्ट्रेलिया समेत विभिन्न देशों के पर्यटक आते हैं। यह नहीं बता सकते कि किस देश के पर्यटक को बोट में घूमाया गया, जहां तक बोट का सवाल है, नियमों में रहकर ही बोटिंग करवाते हैं।- हेमेंन्द्र सिंह, संचालक भैंसरोडगढ़ फोर्ट

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned