नई पीढ़ी को विरासत में पर्यावरण की दौलत देकर जाएं

कर्पूर चंद्र कुलिश की स्मृति में जल, जमीन और जंगल का संरक्षण पर गोष्ठी व प्रदर्शनी

Deepak Sharma

January, 2001:22 AM

कोटा. भार्गव संकलन एवं शोध संस्थान की ओर से रविवार को राजस्थान पत्रिका के संस्थापक कर्पूरचंद्र कुलिश की स्मृति में गोष्ठी एवं प्रदर्शनी की आयोजन किया गया। जल, जमीन और जंगल का संरक्षण विषयक गोष्ठी में वक्ताओं ने पर्यावरण को बचाने पर जोर दिया। वक्ताओं ने कहा कि भले अपनी पीढ़ी के लिए दौलत छोड़कर न जाएं, लेकिन जल, जंगल और जमीन बचाकर उनके लिए स्वच्छ पर्यावरण जरूर छोड़कर जाएं। गोष्ठी में मुख्य वक्ता पर्यावरणविद् गीता दाधीच ने विचार रखें। वहीं कवि गौरस प्रचंड, नहुष व्यास एवं प्रेम शास्त्री ने पर्यावरण और समसामयिक मुद्दों पर सरस काव्यपाठ किया।

मुख्य अतिथि विधायक संदीप शर्मा एवं अध्यक्षीय उद्बोधन में कांग्रेस शहर अध्यक्ष रविन्द्र त्यागी ने आयोजन की सराहना करते हुए कुलिश के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर विचार रखे। इस मौके पर अतिथियों, साहित्यकारों के साथ समाजसेवा के लिए प्रमोद अग्रवाल, आईएल में मोर व कबूतरों के संरक्षण के लिए नयन कालरा, थर्मल में मोरों के संरक्षण के लिए जीवाराज जाट एवं वृक्षारोपण में उल्लेखनीय योगदान के लिए रामगोपाल यादव का प्रशस्ति पत्र, नारियल और शॉल ओढ़ाकर सम्मान किया गया। संचालन ओम पंचोली ने किया।

संस्था अध्यक्ष हेमराज भार्गव व संरक्षक सत्यनारायण शर्मा ने बताया कि कार्यक्रम में भूपेन्द्र यादव, श्याम गौतम, महावीर सक्सेना, चारू भार्गव, अभिजीत, डॉ. बुद्धिप्रकाश गौतम समेत कार्यकारिणी का सहयोग रहा।

Show More
Deepak Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned