कोटा विश्वविद्यालय : बेटियों को हर क्षेत्र में अवसर देने की जरूरत

कोटा विश्वविद्यालय का सप्तम् दीक्षान्त समारोह

तीन बेटियों को मिला कु लाधिपति व कुलपति पदक

यूजी व पीजी के कुल 61978 विद्यार्थियों को उपाधियां प्रदान

By: shailendra tiwari

Published: 23 Jan 2021, 06:36 PM IST

कोटा. कोटा विश्वविद्यालय का सप्तम् दीक्षान्त समारोह शनिवार को कृषि विवि के कॉन्फ्रेंस हॉल में वर्चुअल मोड पर आयोजित किया गया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलाधिपति कलराज मिश्र ने करते हुए कहा कि मुझे अत्यन्त प्रसन्नता होती है जब विश्वविद्यालयों के दीक्षान्त समारोहों में बालिकाओं को उपाधियां और पदक प्राप्त करते हुए देखता हूं। मैंने यह भी अनुभव किया है कि लड़कियां हर क्षेत्र में आगे रहती हैं। उन्हें यदि अवसर मिले तो वे बेहतर से बेहतर करके दिखाती हैं।

इसलिए मेरा आग्रह है कि छात्राओं को शिक्षा के साथ हर क्षेत्र में अग्रणी करने के लिए हम सभी मिलकर प्रयास करें। राष्ट्रीय शिक्षा नीति का समयबद्ध क्रियान्वयन न केवल एक ऐतिहासिक कार्य होगा, अपितु भारत को पुन: विश्व गुरु बनाने के स्वप्न को साकार करने में भी एक अहम् भूमिका निभाएगा। मुझे विश्वास है कि कोटा विश्वविद्यालय नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप हाड़ौती क्षेत्र में रोजगारोन्मुखी नवीन पाठ्यक्रमों को प्रारंभ करने के साथ ही विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के लिए कार्य करेगा।


विवि में वल्र्ड-क्लास सुविधाएं विकसित

समारोह के मुख्य अतिथि आसाम तेजपुर विवि के कुलपति वी.के. जैन ने कहा कि कोटा विवि के शिक्षक अकादमिक स्तर पर बहुत ही अच्छे है। वे अपने-अपने क्षेत्र में बहुत ही अच्छा कार्य कर रहे हैं। यहां के शिक्षक विद्यार्थियों को विश्वस्तरीय शिक्षा प्रदान करने के लिए विवि में वल्र्ड-क्लास सुविधाएं विकसित कर रहे हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि बहुत ही जल्द यह विवि देश के अग्रणी विश्वविद्यालयों की श्रेणी में खड़ा होगा।

वोकेशनल कोर्सेज खोलने की प्लानिंग
कुलपति प्रो. नीलिमा सिंह ने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत हर विश्वविद्यालय को संकल नामांकन अनुपात बढ़ाना है। इस दिशा में विवि इस वर्ष से कई वोकेशनल कोर्सेज खोलने की प्लानिंग भी कर रहा है। इससे ज्यादा से ज्यादा छात्रों को इसका लाभ मिल सकें। इंटरनेशनल स्टूडेंट की एंट्री करना भी प्रस्तावित है। इस वर्ष विभिन्न विषयों के 26 नए गाइड रजिस्टर्ड हुए है। इससे रिसर्च को बढ़ावा मिलेगा। समारोह में कुलसचिव डॉ.आरके उपाध्याय, एनके जैमन, आशु रानी, वित्त नियंत्रक जय कौशिक व सभी संकाय के अधिष्ठाता उपस्थित थे।


इनको पदक व उपाधियां

समारोह में कुलाधिपति पदक वाणिज्य संकाय में अधिकतम अंक अर्जित करने वाली पीजी विद्यार्थी चंचल जोशी व दिव्या सेतिया, कुलपति पदक गत 6 वर्ष में शिक्षा संकाय में अधिकतम अंक अर्जित करने वाली यूजी विद्यार्थी कामिनी गुप्ता को दिया गया। वर्ष 2018 की परीक्षाओं में विभिन्न संकायों, विषयों में मेरिट में स्थान प्राप्त करने वाले 53 विद्यार्थियों को स्वर्ण पदक, वर्ष 2018 के 59 विद्यार्थियों को पीएचडी धारकों को उपाधियां प्रदान की गई। यूजी व पीजी के कुल 61978 विद्यार्थियों को उपाधियां प्रदान की गई।

Show More
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned