कोटा में घोर लापरवाही, तीन अस्पतालों में नहीं मिला उपचार, बुखार से महिला की मौत

कोटा. रंगतालाब निवासी एक बुखार पीड़िता महिला को सोमवार को सरकारी व निजी अस्पतालों में घूमती रही, लेकिन उसे उपचार नहीं मिला। आखिरकार उसका एमबीएस अस्पताल लाते समय दम टूट गया।

By: Deepak Sharma

Published: 27 Jul 2020, 10:53 PM IST

कोटा. रंगतालाब निवासी एक बुखार पीड़िता महिला को सोमवार को सरकारी व निजी अस्पतालों में घूमती रही, लेकिन उसे उपचार नहीं मिला। आखिरकार उसका एमबीएस अस्पताल लाते समय दम टूट गया।
जानकारी के अनुसार रंगतालाब निवासी सविता (32) को कुछ दिनों से बुखार आ रहा था। परिजन से तलवंडी स्थित एक निजी अस्पताल लेकर गए। वहां से महिला को नए अस्पताल भेज दिया। वहां भी उसका उपचार नहीं हुआ। उसे घुमाते रहे। उसके बाद उसे प्रताप नगर स्थित एक निजी अस्पताल लेकर गए। वहां चिकित्सकों ने उसे कोरोना के लक्षण बताते हुए एमबीएस अस्पताल रैफर कर दिया।

वह इन अस्पतालों में दो से तीन घंटे तक घूमती रही। जब परिजन उसे बेसुध हालत में एमबीएस में लेकर पहुंचे तो चिकित्सकों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया और डेडबॉडी को कोविड अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया। वहां उसका कोविड का सैम्पल लिया गया।

उधर, अस्पताल अधीक्षक डॉ. सीएस सुशील ने बताया कि यह मामला उनकी जानकारी में नहीं आया है, फिर भी मंगलवार को इस मामले को दिखवाएंगे। ऐसा हो नहीं सकता है कि डॉक्टर मरीज को नहीं देखे। यहां सभी मरीजों को देखा जा रहा है।

Corona virus
Show More
Deepak Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned