शहीद-ए-आजम भगत सिंह के भतीजे बोले- राजनीति में भाग लेकर देश को समझे युवा

Zuber Khan

Publish: Apr, 17 2018 10:55:56 PM (IST)

Kota, Rajasthan, India
शहीद-ए-आजम भगत सिंह के भतीजे बोले- राजनीति में भाग लेकर देश को समझे युवा

23 साल के शहीद भगत सिंह, आजाद आज भी युवाओं के दिलों में जवां है। युवाओं के लिए प्रेरणा है।

कोटा . 23 साल के शहीद भगत सिंह, आजाद आज भी युवाओं के दिलों में जवां है। युवाओं के लिए प्रेरणा है। युवाओं को देश के लिए कुछ कर गुजरने की ताकत और हौंसला देते हैं। कुछ इसी तरह के विचार व्यक्त किए हैं शहीदे आजम भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के परिजनों ने। परशुराम जयंती के कार्यक्रमों में भाग लेने आए

Read More: पहले ट्रैक्टर से कुचला, दम नहीं निकला तो तलवारों से काट डाला, तीन भाइयों समेत 6 हत्यारों को उम्र कैद

भगत सिंह के भतीजे अभय सिंह संधू पत्नी तेजी संधू, क्रांतिकारी सुखदेव के पौत्र अनुज सिंह थापर और राजगुरु के पौत्र सत्यशील राजगुरु ने पत्रिका से बात की, तो कुछ ऐसे ही विचार सामने आए। साथ ही क्रांतिकारी परिवारों के प्रति सरकारी रवैये पर भी उन्होंने विचार व्यक्त किए।

Read More: कोटा में हवाई सेवा को प्रमोट करेगा ALLEN

शहीदे आजम भगत सिंह के भतीजे अभय सिंह संधू ने बातचीत में बताया कि 23 साल के शहीदे आजम आज भी युवाओं के दिल में 23 साल के ही है। वे युवाओं के लिए आज भी प्रेरक हैं। भगत सिंह का सोचना था कि युवा पढ़ाई के साथ राजनीति में भी रूचि रखें, ताकि उन्हें देश को समझने का अवसर मिले। युवा जो भी बात करें पूरी दलील के साथ।

Big News: हवाई सेवा के बाद अब ALLEN देगा सरकारी स्कूलों के 500 स्टूडेंट्स को नि:शुल्क कोचिंग

भगत सिंह पूरी दलील के साथ बात करते थे। क्रांतिकारियों के सपनों को पूरा करने के सम्बन्ध में पूछे गए प्रश्न पर अभय सिंह ने बताया कि भगत सिंह देश में समानता का भाव चाहते थे। आदमी इतना गरीब न हो कि खुद को बेचने पर मजबूर हो जाए। अमीर इतना अमीर न हो कि गरीब को खरीद ले। मजदूर को पूरी मजदूरी मिले। लेकिन आज भी देश में असमानता है। देश शहीदों को याद कर आज भी प्रेरित होता है, लेकिन किसी सरकारी तौर पर शहीदों का दर्जा नहीं है, यह कष्ट दायक है।

Big News: खूंखार अपराधी ने कोटा पुलिस पर किया ताबड़तोड़ फायर, कांस्टेबल को लगी दो गालियां, अस्पताल में भर्ती

इंडिया गेट के पास बने भारत माता की प्रतिमा
इंडिया गेट के पास भारत माता की प्रतिमा लगे ताकि लोग इसे देखे तो देशभक्ति की भावना से भर जाएं। यह कहना है,क्रांतिकारी सुखदेव के पौत्र अर्जुन सिंह थापर का। उन्होने बताया कि इंडिया गेट के पास भारत माता की लिबर्टी ऑफ स्टेच्यू से भी बड़ी मूर्ति लगाई जानी चाहिए, ताकि देश का युवा यहां होकर गुजरे तो देशभक्ति की भावना जागे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned