ज्यादा मुनाफे के लालच ने बढ़ाया संकट, कई दुकानदार वसूल रहे मनमाने दाम

थोक व्यापारी भी कर रहे मुनाफाखोरी

 

By: Deepak Sharma

Published: 27 Mar 2020, 07:06 PM IST

कोटा. लॉक डाउन के दौरान लोग केवल दैनिक उपयोग के जरूरी समान लेने के लिए घरों से बाहर निकल रहे हैं। लेकिन कुछ व्यापारी राशन सामग्री के मनमाने दाम लोगों से वसूल कर रहे हैं। लोग मजबूरी में मुंहमांगे दामों पर आटा, दाल, चावल, चीनी, तेल आदि खरीदने को विवश हैं। प्रशासन के पास गुरुवार को पचास से अधिक शिकायतें केवल अधिक दाम वसूल की पहुंच गई है। ऐसे में अब प्रशासन कालाबाजारी करने तथा अधिक दाम वसूल करने वालों के खिलाफ एक्शन करने की तैयारी में है।

दो जिलों के सात अस्पतालों ने लौटाया, कोटा के चिकित्सक ने बचाई आंख की रोशनी

थोक व्यापारियों ने भी दैनिक उपयोग की सामग्री के दामों में भारी बढ़ोतरी कर दी है। शहर के अलग-अलग क्षेत्रों के लोगों ने पत्रिका में फोन कर राशन सामग्री के अधिक दाम वसूल करने की शिकायत की है। विनोद पारेता ने शिकायत की है कि विज्ञान नगर में किराना व्यापारियों ने चीनी 50 से 60 रुपए किलो बेच रहे थे और आटा भी 40 रुपए किलो कर दिया है। इस बारे में जिला रसद अधिकारी व उपखण्ड अधिकारी को शिकायत की है। कन्सुआं में भी व्यापारियों की अधिक दाम वसूल करने की आधा दर्जन शिकायतें प्रशासन के पास पहुंची है।

सदस्यता निरस्त करेंगे

जीएमए के अध्यक्ष राकेश जैन ने इस बारे में कहा, उनकी संस्था से जुड़ा कोई भी सदस्य व्यापारी इस आपदा की घड़ी में ज्यादा दाम वसूलेगा तो ऐसे व्यापारी की सदस्यता निरस्त की जाएगी। व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन ने कहा, कालाबाजारी करना सरासर गलत है। प्रशासन को ऐसे व्यापारियों के खिलाफ र्कारवाई करनी चाहिए।

100 डिस्टिलरी और 500 विनिर्माताओं को हैंड सेनेटाइजर्स बनाने की अनुमति

लॉक डाउन के दौरान आम नागरिकों को खाद्य सामग्री की उपलब्धता लिए होलसेल डीलरों को शर्तों की पालना करते होम डिलेवरी की अनुमति प्रदान की गई है। कोई भी नागरिक दूरभाष पर सूचना देकर घर बैठे सामान मंगवा सकेंगे। अनुचित दाम वसूलने की शिकायतों पर कार्रवाई की जाएगी।
ओम कसेरा, जिला कलक्टर

Corona virus
Show More
Deepak Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned