लॉकडाउन का असर: कोटा में 2 घंटे में 10 गुना बढ़े सब्जियों के दाम, 200 रुपए किलो बिकी मिर्ची

India Lockdown, coronavirus,Side Effects of Lockdown, Vegetables price increase : लॉकडाउन के बाद कोटा में दो घंटे में ही सब्जियों के भावों में 5 से 10 गुना तेजी आ गई।

Zuber Khan

27 Mar 2020, 02:42 AM IST

कोटा. लॉकडाउन के बाद थोक फल सब्जीमंडी में गुरुवार सुबह दो घंटे में ही सब्जियों के भावों में 5 से 10 गुना तेजी आ गई। माल की आवक कम होने व मंडी में ग्राहकों की भीड़ को देखते हुए दुकानदारों ने सब्जियों के मनमाने दाम वसूले। कुछ व्यापारियों का कहना था कि जब तक सरकार सब्जियों के भावों पर लगाम नहीं लगाएगी व्यापारी मनमाने दामों वसूलते रहेंगे। थोक फल सब्जीमंडी में गुरुवार तड़के 3 से 4 बजे के बीच थोक में आलू 20, प्याज 20, भिण्डी 15, मिर्ची 25, गोभी 12, धनिया 30, टमाटर 10 व भिण्डी 15 रुपए किलो बिकी।

coronavirus जानकर चौंक जाएंगे आप... 1 नहीं, 7 प्रकार का है कोरोना, संक्रमण की ये हैं 4 अवस्थाएं

किसानों के सुबह सब्जी नहीं लेकर आने से सुबह 6 बजे सब्जियों के भावों में जमकर उछाल आया। इसके बाद आलू 30 से 40, प्याज 40, भिण्डी 30, मिर्ची 200, गोभी 50, धनिया 100, टमाटर, 40 रुपए किलो बिका। खुदरा में आलू 70, प्याज 60, भिण्डी 70, मिर्ची 250, गोभी 80, धनिया 120 व टमाटर 60 रुपए किलो तक बिका। जो लोग लॉकडाउन के चलते घर के बाहर नहीं निकल पा रहे उन्हें भी सब्जियों के लिए तरसना पड़ रहा है।

स्थिति विकट हो जाएगी
सब्जियों का स्टॉक करने व आवक कम होने से बुधवार तक जो गोभी 5 रुपए किलो बिकी वही गुरुवार दो घंटे में ही 30 से 50 रुपए किलो बिकी और रिटेल में 60 से 100 रुपए किलो तक बिक रही है। प्रशासन ने इस पर ध्यान नहीं दिया तो आने वाले दिनों स्थिति भयावह हो जाएगी।

गोविन्दराम, थोक व्यापारी

Read More: कोरोना पर भारी पड़ी कोटा कोचिंग: देशभर में 3.7 लाख बच्चों तक पहुंची डिजिटल क्लास, JEE Advanced or AIIMS की हो रही पढ़ाई

बढ़ सकते हैं दाम
लॉक डाउन के चलते लोगों में संशय है कि सब्जियां कल मिलेगी या नहीं ऐसे में सब्जियां खरीदने वालों की भीड़ उमड़ रही है। सुबह टमाटर के भाव 150 रुपए कैरेट (25 से 30 किलो) था जो दो घंटे में ही बढ़कर 500 से 600 रुपए कैरेट हो गया। आने वाले दिनों यही हालात रहे तो दामों में और वृद्धि होगी।
नरेश कुमार आडवानी, थोक व्यापारी

Coronavirus: अब रोजी-रोटी पर भी कोरोना का कहर: 15 दिन में 800 से ज्यादा बुकिंग रद्द, करोड़ों का नुकसान

बढ़ सकते हैं दाम
सब्जियों की इस लूटमार को जल्द से जल्द रोकने के प्रयास किए जाने चाहिए। अन्य राज्यों जैसे हिमाचल में जिला प्रशासन ने सब्जियों की रेट तय कर रखी है। इसी तरह कोटा में भी जिला प्रशासन को ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए, जिससे किसानों व ग्राहकों को आर्थिक नुकसान नहीं उठाना पड़े।
राकेश कोटवानी, थोक व्यापारी

Corona virus Impact coronavirus Coronavirus in india
Show More
​Zuber Khan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned