स्टेशन क्षेत्र बना शिमला, पारा 2 डिग्री पर

पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी के कारण मैदानी इलाकों में सर्दी का असर बढ़ गया है। हाड़ौती में सर्दी हाड़कंपाने लगी है। शीतलहर ने लोगों को 'जकड़Ó लिया है। हाड़ौती ऑरेंज जोन में आ गई। स्टेशन क्षेत्र में पारा 2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। यह शिमला सा ठंडा हो गया है।

 

 

By: Abhishek Gupta

Published: 18 Dec 2020, 12:57 PM IST

कोटा. पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी के कारण मैदानी इलाकों में सर्दी का असर बढ़ गया है। हाड़ौती में सर्दी हाड़कंपाने लगी है। शीतलहर ने लोगों को 'जकड़Ó लिया है। हाड़ौती ऑरेंज जोन में आ गई। स्टेशन क्षेत्र में पारा 2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। यह शिमला सा ठंडा हो गया है। जबकि नए कोटा का पारा भी 5.3 डिग्री पर पहुंच गया है। बीते तीन दिन में पारा 8 डिग्री गिरकर गिरा है। दृष्यता 1500 मीटर रही।
दरअसल, सुबह से ही शीतलहर का दौर चल रहा। इससे सर्दी हाड़कंपाने लगी है। हालांकि सुबह 8 बजे धूप खिल गई थी।

दोपहर 12 बजे तेज धूप रही। इससे लोगों ने धूप का सेवन किया, लेकिन शीतलहर के कारण दुपहिया वाहन चालकों को अधिक परेशानी रही। वाहनों की गति धीमी रही। ठंडी हवाओं के कारण लोग दिनभर गर्म कपड़ों में लिपटे नजर आए। दिनभर सर्द हवाएं नश्तर सी चुभ रही। शाम ढलने के बाद सर्द हवाओं का जोर बढ़ गया है। इस कारण शरीर व हाथ सुन्न रहने लगे है। लोग घरों व बाजारों में अलाव जलाकर सर्दी से बचने का जतन करते दिख रहे।

सर्दी बढऩे के कारण
- हिमाचल पर बर्फबारी हो रही है। इससे हवाएं मैदानी इलाकों में पहुंच रही
- पिछले दिनों मावठ गिरी थी, बादल भी छाए थे। दिन में रात सा अंधेरा हुआ था।
- पश्चिमी विक्षोभ का भी असर बना था।
- अब मौसम साफ हो गया

अपेक्षित प्रभाव
शीतदिन की परिस्थिति में रात के साथ दिन में सर्दी का एहसास ज्यादा रहेगा। सर्दी के लम्बे समय तक संपर्क में रहने के कारण शीतदंश होने की संभावना बढ़ जाती है। पाला और शीतलहर दलहनी फसलों व पशुओं को प्रभावित कर सकती है।

सुझाव व उपाय
ठंड में लम्बे समय तक रहने से बचे। अपने सिर, गर्दन, हाथ और पैर की उंगलियों को कवर करें, ताकि शारीरिक ऊष्मा की कमी ना हो पाए। बाहरी गतिविधियों से बचें या समिति करें। शीतदंश/हाइपोथर्मिया होने पर तुरंत चिकित्सक से सम्पर्क करें। पालतू जानवरों व पशुधन को ठंडे मौसम से बचने के लिए पर्याप्त व्यवस्था करें।

सावधानी बरतें
ड्राइविंग या आउटिंग करते समय सावधानी बरतें, किसी भी परिवहन के माध्यम से ड्राइविंग के दौरान फॉग लाइट्स का इस्तेमाल करें। यात्रा के लिए रेलवे, परिवहन के सम्पर्क में रहे।

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned