14 मई से बढ़ेगा तापमान, 25 से 8 जून तक नौतपा,व्यापारिक गतिविधियां होंगी तेज

14 मई को शाम 5: 16 बजे सूर्य वृषभ राशि में प्रवेश करेंगे।

By: Suraksha Rajora

Published: 10 May 2020, 07:42 PM IST

कोटा . सूर्य ब्रह्मांड के एक जीवंत ग्रह के तौर पर जाने जाते हैं और उनका राशि परिवर्तन एक अहम ज्योतिषीय घटना मानी जाती है। इस समय सूर्य देव अपनी उच्च राशि मेष में गोचर कर रहे हैं। मेष राशि में सूर्य का गोचर 13 अप्रैल को हुआ था। सूर्य की यह उच्च राशि हैं । इस राशि को छोड़कर 14 मई को शाम 5: 16 बजे सूर्य वृषभ राशि में प्रवेश करेंगे। जहां सूर्य देव 15 जून तक रहेंगे। सूर्य का राशि परिवर्तन संक्रांति कहा जाता है।

59 साल बाद चल रहे हैं उल्टी चाल, वक्री हो जाएंगे शनि ,तेज गर्मी और आंधी तूफान की आशंका

ज्योतिषाचार्य अमित जैन के अनुसार सूर्य के वृषभ राशि में प्रवेश के समय की कुंडली में सूर्य का शुभ ग्रहों बुध और शुक्र से युत होकर मंगल से दृष्ट होना दक्षिण भारत में मानसून पूर्व की अच्छी वर्षा का संकेत है। उत्तर भारत में मंगल और सूर्य के इस गोचर के प्रभाव से तापमान 14 मई के बाद तेज़ी से बढ़ेगा जिसके फलस्वरूप कई स्थानों पर व्यापारिक गतिविधियां तेज होंगी।

सोने-चांदी के रुख में तेजी आएगी और पानी की कमी से जनता त्रस्त हो सकती है। 14 मई से 8 जून तक गर्मी अपने प्रचंड रूप में दिखाएगी समुद्री चक्रवात, आगजनी ,आंधी -तूफान, वायुवेग, भूकंप ,सुनामी सहित अनेकों प्रकार के प्राकृतिक आपदा की भी संभावना दिख रही है। सूर्य की वृषभ संक्राति में 25 मई से नौतपा शुरू हो रहा है। इस दिन सूर्य रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करेंगे।

मान्यता है कि इन दिनों आम गर्मी के दिनों से ज्यादा गर्मी पड़ती है। रोहिणी नक्षत्र में सूर्य और पृथ्वी के बीच की दूरी कम हो जाती है। इस वजह से पृथ्वी पर सूर्य की किरणों की तपिश अधिक तेज हो जाती है। यह नौतपे 8 जून तक चलेंगा।

Show More
Suraksha Rajora Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned