# Video: सुवालका ने फिर लगाया सफाई ठेके में भ्रष्टाचार का आरोप ! महापौर पर भी दागे सवाल

900 की जगह 400कर रहे काम, निरीक्षण में नदारद मिले कर्मचारी वार्डो के कर्मचारियों एवं सड़क सफाई के कर्मचारियों में हो रहा है खुला भ्रष्टाचार

By: Suraksha Rajora

Published: 18 Dec 2018, 07:13 PM IST

Kota, Kota, Rajasthan, India

कोटा. नगर निगम नेता प्रतिपक्ष अनिल सुवालका लगातार गड़बड़ी की शिकायत के बाद आज औचक निरीक्षण के सेक्टर न 4 पर पहुंचे। सुवालका ने आरोप लगाया कि 250 कर्मचारी संविदा पर रोड सफाई के लिए ,650 कर्मचारी है वार्डो में संविदा पर सफाई के लिए लेकिन,सफाई निरीक्षकों, स्वस्थ अधिकारी ,एवं ठेकेदारों की मिलीभगत के कारण कही भी आधे कर्मचारी भी नही लग रहे ।

 

Read More: खाद की कमी पर भरत सिंह दहाड़े ! कहा अव्यवस्था के लिए मोदी सरकार ही जिम्मेदार

 

सुवालका ने प्रातः 9 बजे कुन्हाड़ी के सेक्टर न 4 पर पहुंच कर वहाँ तैनात सफाई निरीक्षक गिरिराज से सफाई श्रमिकों की जानकारी ली। इसके बाद पता चला कि नदी पार में रोड की लेबर कब काम करने आई उन्हें पता नही है इस पर सुवालका ने मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी सतीश मीणा को फोन कर उनसे कड़ी नाराजगी प्रकट की ओर उन्हें स्पष्ट शब्दों में कहा कि उन्हें सड़क पर काम करने वाली 250 संविदा कर्मचारियों एवं शहर के सभी 65 वार्डो में काम करने वाली 650 संविदा कर्मचारियों की सूची उपलब्ध करवाई जाए वे हर सेक्टर में जाकर उनकी मौजूदगी की जांच करेंगे ।

 

सुवालका ने सेक्टर से ही आयुक्त जुगल किशोर मीणा को फोन पर सारे घटनाक्रम की शिकायत की ओर कहा कि शहर के सभी सेक्टरों पर लगी अस्थाई लेबर की जांच की जाए सुवालका ने स्वास्थ्य अधिकारी सतीश मीणा पर मिलीभगत का आरोप लगाते हुए कहा कि आयुक्त खुद अपने स्तर पर जांच करें कि कहाँ कर्मचारी लगे है और कहां नही ।

 

 

सुवालका ने कहा कि महापौर महेश विजय ने कहा था कि बेरोजगार हुए सभी कर्मचारियों को संविदा के आधार पर नोकरी दी जाएगी लेकिन न तो सड़क की सफाई में पूरे कर्मचारी लगे है न ही वार्डो में संविदा कर्मचारी लगाए हुए है 900 ठेके कर्मचारियों के एवज में शहर में 400 कर्मचारी भी काम पर नही लगे है बाकी कर्मचारियों का पैसा किसकी जेब मे जा रहा है । नेताप्रतिपक्ष सुवालका ने कहा है कि आयुक्त को आज ही सभी कर्मचारियों के निरीक्षण के लिए कहा गया है यदि 5 दिन में पूरे कर्मचारी काम करते नही मिले तो जिम्मेदार अफसरों की शिकायत राज्य सरकार को भेजेंगे ।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned