scriptThe case of housing schemes of Kota Uit Trust | न्यास की योजनाओं के आवासों पर दबंगों का अवैध कब्जा | Patrika News

न्यास की योजनाओं के आवासों पर दबंगों का अवैध कब्जा

कोटा नगर विकास न्यास की आवासीय योजना में खाली पड़े फ्लैटों में दबंगों ने कब्जा जमा लिया है। आवंटी फ्लैट का कब्जा दिलाने के लिए एक साल से न्यास के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन न्यास दबंगों से फ्लैट खाली नहीं करवा पा रहा।

कोटा

Updated: December 31, 2021 09:04:06 pm

कोटा. नगर विकास न्यास की आवासीय योजना में खाली पड़े फ्लैटों में दबंगों ने कब्जा जमा लिया है। आवंटी फ्लैट का कब्जा दिलाने के लिए एक साल से न्यास के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन न्यास दबंगों से फ्लैट खाली नहीं करवा पा रहा।
कंसुआ अफोर्डेबल योजना
न्यास की योजनाओं के आवासों पर दबंगों का अवैध कब्जा
केशवपुरा निवासी संजय कुमार जैन ने बताया कि न्यास ने मार्च 2021 में निकाली लॉटरी में फ्लैट संख्या ई-1141 आवंटित किया। फ्लैट की राशि भी एक मुश्त जमा करवा दी। मार्च 2021 से फ्लैट का कब्जा दिलाने के लिए न्यास के चक्कर काट रहा हूं, लेकिन न्यास दबंगों से फ्लैट खाली नहीं करा पा रहा। न्यास दस्ता तीन माह पहले कब्जा दिलाने गया, लेकिन मौके पर कब्जेधारी का ताला लगा मिला तो न्यास के दस्ते ने उसके ऊपर अपना ताला लगाया और वापस लौट गया। अब बदमाश न्यास के ताले को तोड़़कर आराम से रह रहा है।
250 से ज्यादा फ्लैटों में कब्जा
न्यास की प्रेमनगर, कंसुआ, मोहनलाल सुखाडिय़ा आवासीय योजना में न्यास के खाली पड़े 250 से ज्यादा फ्लैटों में बदमाशों का कब्जा है।

हो चुकी है आपराधिक घटनाएं
प्रेमनगर अफोर्डेबल रेजीडेंस वेलफेयर सोसायटी अध्यक्ष हरीश पारेता ने बताया कि न्यास के फ्लैटों में अवैध रूप से कब्जा कर रह रहे लोग आपराधिक गतिविधियों में लिप्त है। उन्होंने बताया कि 2019 में यहां अवैध कब्जाधारी एक महिला ने अपने मित्र के साथ मिलकर पति की हत्या कर दी थी। पुलिस ने एक अवैध कब्जाधारी से चोरी की 32 बाइकें जब्त की थी। मध्यप्रदेश पुलिस ने भी यहां कब्जा कर रहे एक हथियार गिरोह के सदस्य को अवैध हथियार के साथ पकड़ा था। कुछ दिन पहले ही मोहलाल सुखाडिय़ा आवासीय योजना में पुलिस ने सर्च अभियान चलाकर लावारिस हालत में एक दर्जन बाइकें जब्त की थी।
पुलिस ने सर्वे अभियान चलाया था
भाजपा के महावीर गौतम ने बताया कि वर्ष 2020 में प्रशिक्षु आईपीएस मृत्युजंय मिश्रा ने प्रेमनगर अफोर्डेबल योजना में रह रहे लोगों का सर्वे करने का अभियान चलाया था। तीन-चार दिन चले सर्वे में 4400 फ्लैटों में से केवल 235 फ्लैट में रह रहे लोगों का ही सर्वे हो पाया। दबंगों के खिलाफ कुछ कार्रवाई होती, उससे पहले ही उनका स्थानान्तरण हो गया। सर्वे की सूचना पर अवैध रूप से रह रहे दबंग फ्लैट खाली कर चले गए थे। एसपी डॉ. विकास पाठक से फरवरी 21 में मिलकर दोबारा सर्वे करवाने की मांग की थी, ताकि यहां रह रहे दबंगों का पर्दाफाश हो सके।

पुलिस की निगाह है
समाज कंटकों के खिलाफ पुलिस सख्त एक्शन लेती है। अर्फ ोडेबल योजनाओं सहित अन्य खाली मकानों व सुनसान जगहों पर निरंतर निगरानी रखी जाती है। पूर्व में भारी जाप्ता लगातार ऐसी जगहों पर कार्रवाई की गई थी। आगे भी निरंतर कार्रवाई जारी रहेगी।
प्रवीण जैन, एएसपी, कोटा सिटी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

देश में घट रहे कोरोना के मामले, एक दिन में सामने आए 2.38 लाख केसPM मोदी की मौजूदगी में BJP केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक आज, फाइनल किए जाएंगे UP, उत्तराखंड, गोवा और पंजाब के उम्मीदवारों के नामक्‍या फ‍िर महंगा होगा पेट्रोल और डीजल? कच्चे तेल के दाम 7 साल में सबसे ऊपरतो क्या अब रोबोट भी बनाएंगे मुकेश अंबानी? इस रोबोटिक्स कंपनी में खरीदी 54 फीसदी की हिस्सेदारीPunjab: ED की बड़ी कार्रवाई, सीएम चन्नी के भतीजे के यहां से 6 करोड़ की नगदी बरामदराजस्थान में 17 दिन में 46 लोगों की टूट गई सांसेंछत्तीसगढ़ के इस जिले में कलेक्टर हुए कोरोना संक्रमित, पॉजिटिविटी रेट बढ़ा तो बंद किए स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र24 घंटे में तीन की मौत, फिर हॉटस्पॉट बना एमपी का ये शहर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.