...जारी है खतरनाक सफर

हादसा होने का इंतजार : पार्वती नदी में अब भी बेरोकटोक चल रही ट्यबें

 

By: mukesh gour

Published: 16 Sep 2020, 11:40 PM IST

छबड़ा. गुगोर स्थित पार्वती नदी में जान जोखिम में डाल ट्यूब के सहारे लोगों को नदी पार कराने का सिलसिला बुधवार को भी बेरोकटोक जारी रहा। राजस्थान पत्रिका के मंगलवार के अंक में खबर प्रकाशित होने के बाद भी प्रशासन के कान पर जूं तक नहीं रेंगी। कोटा जिले के गोठडा में चंबल नदी में नाव पलटने के हादसे के बाद प्रशासन को इस तरफ भी अलर्ट हो जाना चाहिए था। इन दिनों मध्यप्रदेश से आ रहे पानी के चलते गुगोर स्थित पार्वती पुलिया पर पानी का तेज बहाव होने के कारण राजस्थान में मध्यप्रदेश के दोनों छोरों के आसपास के क्षेत्र में रहने वाले ग्रामीणों को आवागमन में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ये ट्यूब वाले इसी का फायदा उठा रहे हैं। रोजाना कई लोगों को ट्यूब के सहारे नदी के इस पार से उस पार छोड़ा जा रहा है। हालांकि दो दिन पूर्व छबड़ा पुलिस प्रशासन ने नामों का संचालन तो बंद करा दिया, लेकिन ट्यूब के जरिए यात्रियों को लाने ले जाने का काम अभी भी जारी है।

read also : Patrika .com/kota-news/everyone-looked-sad-after-the-boat-sank-6404996/" target="_blank">दु:ख के समंदर में डूबे, जहां अर्थी उठी वहां गांव में नहीं जले चूल्हे

खतरनाक सफर
300 मीटर लंबी पार्वती नदी को पार कराने के लिए राजस्थान में मध्यप्रदेश के लगभग 10 से 15 ट्यूब संचालक यहां मौजूद रहते हैं। एक सवारी से एक छोर से दूसरे छोर जाने का 30 रुपए लिया जाता है। मोटरसाइकिल ले जाने के 100 रुपए लिए जाते हैं। ट्यूब पर 5 से 8 सवारी तक एक चक्कर में ले जाई जाती हैं। राजस्थान में रहने वाले ज्यादातर लोगों के लिए पार्वती नदी के पार मध्य प्रदेश जाने का यह निकटतम रास्ता है। यहां स्थित अमीरपुर, फतेहगढ़, गुना जाने के लिए भी लोग इस मार्ग का उपयोग करते हैं। अन्य रास्ते से जाने में 100 किमी का फर्क आता है।

Show More
mukesh gour
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned